मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल से ईडी ने की पूछताछ

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की एक टीम ने संदेसरा बंधुओं (स्टर्लिंग बायोटेक फार्मा) से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आज कांग्रेस के सीनियर लीडर अहमद पटेल से पूछताछ की। ईडी ने यह पूछताछ पटेल के दिल्ली में 23 मदर टेरेसा क्रीसेंट स्थित घर में की।

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) अब दल धनशोधन रोकथाम कानून (पीएमएलए) के तहत उनका बयान दर्ज करेगा। इससे पहले ईडी ने दो बार पटेल को पूछताछ के लिए बुलाया था लेकिन उनका कहना था कि वह सीनियर सिटीजन हैं और कोविड-19 गाइडलाइन के कारण पूछताछ के लिए नहीं आ सकते हैं। इसके बाद एजेंसी ने अपनी एक टीम को पूछताछ के लिए उनके घर भेजा।

आरोप है कि स्टर्लिंग बायोटेक के नाम पर आंध्रा बैंक से पांच हजार करोड़ का कर्ज लिया गया था। कई नोटिस के बावजूद कंपनी प्रमोटर्स ने रकम वापस नहीं की। बैंक ने इसकी शिकायत सीबीआई से कर दी। बाद में जांच ईडी को सौंप दी गई। उसने दिल्ली और गाजियाबाद में सात स्थानों पर छापेमारी की थी। जिन लोगों के यहां छापेमारी की गई थी, वो पटेल के करीबी बताए गए थे।

जांच अधिकारी ने कहा कि एसबीएल ग्रुप भारतीय बैंकों से रुपये के साथ-साथ विदेशी मुद्रा में भी लोन लिए थे। ग्रुप को आंध्र बैंक, यूको बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई), इलाहाबाद बैंक और बैंक ऑफ इंडिया (बीओआई) की अगुवाई वाले बैंकों के कंसोर्शियम ने लोन पास किया।

अगस्त 2019 में पटेल के बेटे फैसल और दामाद से भी पूछताछ की जा चुकी है। वैसे, यह मामला कुल 14 हजार 500 करोड़ रुपए का बताया जाता है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE