रोगियों के इलाज के लिए डॉक्टरों ने योग को कवच के रूप में इस्तेमाल किया: पीएम मोदी

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होने इस बात पर जोर दिया कि योग उपचार प्रक्रिया में कैसे मदद करता है। पीएम मोदी ने M-Yoga ऐप की शुरुआत करने का भी ऐलान किया है। भारत विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ मिलकर M-Yoga ऐप शुरू कर रहा है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने M-Yoga ऐप लॉन्च होने के मौके पर कहा कि इसके ‘One World, One Health’ का हमारा उद्देश्य पूरा होगा। यह ऐप पूरी दुनिया के लोगों के लिए उपयोगी होगा। यह कई भाषाओं में होगा। ऐप में योग से जुड़े वीडियो और वह भी अपनी भाषा में देखकर लोग ट्रेनिंग ले सकेंगे। इससे खुद को फिट रखने में मदद मिलेगी।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के बयान के अंश

  • आज जब पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी से लड़ रही है, योग आशा की किरण बन गया है।
  • इस कठिन समय में लोग योग को भूल सकते थे, अनदेखा कर सकते थे। बल्कि इसके लिए उनका प्यार और उत्साह और बढ़ गया है।
  • इस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के लिए ‘योग फॉर वेलनेस’ थीम ने लोगों को योग करने के लिए और भी अधिक प्रोत्साहित किया है। मैं प्रार्थना करता हूं कि हर देश, क्षेत्र और लोग स्वस्थ रहें।
  • आज, चिकित्सा विज्ञान भी चिकित्सा उपचार के अलावा उपचार प्रक्रिया पर जोर देता है। योग उपचार प्रक्रिया में मदद करता है।
  • डॉक्टरों ने मरीजों के इलाज के लिए योग को कवच की तरह इस्तेमाल किया है। अस्पतालों की तस्वीरें हैं, जिनमें डॉक्टर और नर्सें योग सिखाती हैं और अनुलोम विलोम प्राणायाम जैसे साँस लेने के व्यायाम करती हैं। अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों ने कहा है कि ये व्यायाम श्वास प्रणाली को मजबूत करते हैं।
  • योग हमें तनाव से ताकत की ओर और नकारात्मकता से रचनात्मकता की ओर ले जाता है।
  • WHO के सहयोग से भारत ने एक और अहम कदम उठाया है। अब एक myYoga ऐप होगा। यह हमारे ‘वन वर्ल्ड, वन हेल्थ’ के आदर्श वाक्य में हमारी मदद करेगा।
  • मुझे विश्वास है कि योग जनता की स्वास्थ्य देखभाल में निवारक और प्रोत्साहनात्मक भूमिका निभाता रहेगा।
  • इस वर्ष, इस आयोजन का विषय “घर पर योग और परिवार के साथ योग” है, जो महामारी के आसपास की वैश्विक चिंताओं के अनुरूप है।
  • अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की अवधारणा को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण के दौरान प्रस्तावित किया था। संयुक्त राष्ट्र ने 2014 में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता दी।