मजदूरों को बॉर्डर पर छोड़ने के मामले में हिरासत में लिए गए दिल्ली कांग्रेस चीफ

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी को दिल्ली पुलिस ने उनके घर पर ही हिरासत में ले लिया है। अनिल चौधरी पर आरोप है कि उन्होंने अपने वाहनों से लोगों को दिल्ली-यूपी गेट पर पहुंचाया। जिसके कारण लोगों की भीड़ जुटी।

पुलिस का कहना है कि अनिल चौधरी शनिवार और रविवार को काफी संख्या में प्रवासी श्रमिकों के साथ दिल्ली और यूपी बॉर्डर पर आए थे। इस दौरान उनके द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन नहीं किया गया, इससे कोरोना संक्रमण का खतरा और बढ़ सकता है। जिसके बाद पुलिस को ये कदम उठाना पड़ा।

इसी बीच अनिल चौधरी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो जारी किया है। वीडियो में उनके पीछे कई पुलिसवाले दिखाई दे रहे हैं। वीडियो में वो बता रहे हैं कि उन्हें, उनके निवास स्थान पर पुलिस ने डिटेन कर लिया है।  पता नहीं क्यों? हालांकि चौधरी का कहना है कि उन्हें नहीं मालूम कि उन्हें किस वजह से गिरफ्तार किया गया है।

वहीं पूर्वी दिल्ली के डीसीपी जसमीत सिंह का कहना है कि अनील चौधरी को घर में ही डिटेन किया गया है। डीसीपी ने कहा “चौधरी और कांग्रेस के कार्यकर्ता कल और आज दोनों दिन प्रवासी मजदूरों को गाड़ियों में भरकर दिल्ली-यूपी बार्डर ले गए थे। जिससे कानून-व्यवस्था की समस्या हो रही है। इस दौरान उन्होने न मास्क न ही सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को फॉलो किया।” पुलिस का कहना है कि प्रवासी मजदूरों को उनके गांव भेजने का एक सिस्टम है जिसे फॉलो नहीं किया जा रहा है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE