जामिया एल्युमिनाई एसोसिएशन के अध्यक्ष को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

नई दिल्ली। दिल्ली हिं’सा में साजिश करने के आरोप में जामिया एल्युमिनाई एसोसिएशन के प्रेसिडेंट शिफा-उर्रहमान को गिरफ्तार कर लिया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आज शिफा-उर्रहमान को गिरफ्तार किया है। शिफा-उर्रहमान से पूछताछ जारी है।

इससे पहले स्पेशल सेल ने जमिया कॉर्डिनेशन कमेटी की मीडिया प्रभारी सफुरा जर्गर को गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा मीरान हैदर को हिंसा की साजिश में गिरफ्तार किया जा चुका है। दोनों पर यूएपीए एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है। सफुरा ने प्रेग्नेंट होने का हवाला देकर जमानत अर्जी लगाई थी, जो अदालत ने खारिज कर दी है।

वहीं, किरोड़ीमल कॉलेज की पूर्व छात्रा गुलफिसा फातिमा को भी हिं’सा की साजिश में गिरफ्तार कर चुकी है। इन पर भी यूएपीए एक्ट के तहत केस दर्ज है। जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद पर भी दिल्ली हिं’सा की साजिश में शामिल होने का आरोप लगा है। इनके खिलाफ FIR दिल्ली पुलिस ने दर्ज की है। इस मामले की जांच भी स्पेशल सेल कर रही है।

कोरोना संक्रमण के बीच दिल्ली पुलिस की सक्रियता को लेकर विपक्ष सवाल उठा रहा है। विपक्ष का आरोप है कि जब देश संकट के दौर से गुजर रहा है, ऐसे में इन गिरफ्तारियों का क्या तुक है, जब गिरफ्तार किए गए लोग अपने कानूनी अधिकारों का भी इस्तेमाल नहीं कर सकते। सरकार और पुलिस इस काम को बाद में भी कर सकती है। इस समय प्रशासन का सारा ध्यान लोगों की सेवा में लगा होना चाहिए।

ताहिर हुसैन की भी हो चुकी है गिरफ्तारी

इससे पहले आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन को दिल्ली के चांद बाग हिं’सा मामले में गिरफ्तार किया गया था। ताहिर हुसैन पर भी UPA एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। गौरतलब है कि AAP पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन पर दिल्ली के उत्तरी पूर्वी जिले में की हिं’सा भड़काने और इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के अधिकारी अंकित शर्मा की ह’त्या का आरोप लगा है।’


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE