LAC पर भारत-चीन के तनाव के बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह करेंगे आज लद्दाख का दौरा

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लद्दाख में चीनी सेना के साथ सीमा पर गतिरोध के मद्देनजर भारत की सैन्य तैयारियों का जायजा लेने के लिए शुक्रवार को क्षेत्र का दौरा करेंगे। रक्षा मंत्री के साथ थलसेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे भी साथ रहेंगे। सरकार के सूत्रों ने यह जानकारी दी है।

सूत्रों के अनुसार, लद्दाख यात्रा के दौरान सिंह सेना के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक कर सकते हैं। लेह पहुंचने पर लेह कोर के कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह पूर्वी लद्दाख से सटी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन से चल रही तनातनी के बारे में एक प्रेजंटेशन के जरिए पूरी जानकारी देंगे।

यात्रा का उद्देश्य क्षेत्र में चीनी सैनिकों के साथ सात सप्ताह से चल रहे गतिरोध के दौरान सैनिकों का मनोबल बढ़ाना है।सेना प्रमुख ने 23 और 24 जून को लद्दाख का दौरा किया था जिस दौरान उन्होंने वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के साथ बैठकें की थीं और पूर्वी लद्दाख में अग्रिम क्षेत्रों का भ्रमण किया था। जनरल नरवणे ने इससे पहले 22 मई को लेह का दौरा किया था।

भारत और चीन की सेनाओं के बीच पिछले सात सप्ताह से पूर्वी लद्दाख क्षेत्र में कई जगहों पर गतिरोध की स्थिति बनी हुई है। गत 15 जून को गलवान घाटी में हिंसक झड़पों में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद तनाव और बढ़ गया। इस झड़प में चीन के सैनिक भी हताहत हुए लेकिन पड़ोसी देश ने अभी तक उनकी संख्या नहीं बताई है।

इसी बीच लद्दाख में वास्तवीक नियत्रंण रेखा (LAC) पर चीन ने 20 हजार जवानों को तैनात किया है। चीन की ओर से सेना के दो डिविजन की तैनाती भारतीय सीमा की तरफ की गई है। चीन को जवाब देने के लिए भारत ने भी सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE