हथिनी की मौ’त को जोड़ा था मुस्लिमों से, सच सामने आने पर चौरसिया ने किया ट्वीट डिलीट

केरल में गर्भवती हथनी की मौ’त के मामले को सांप्रदायिक रंग देने की भरपूर कोशिश की गई। आखिरकार सच सामने आ ही गया। पुलिस ने इस मामले में विल्सन नामक शख्स को गिरफ्तार किया है। साथ ही दो अन्य संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।

जानकारी के अनुसार, इस घटना के सामने आने के साथ ही इस पूरे मामले को मुस्लिमों से जोड़ने की कोशिश की गई थी। सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने अपने ट्वीट में लिखा कि ‘मोहम्मद अजमत अली और तमीम शेख को केरल में हाथी की ह’त्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। ये मदरसा की देन हैं और मदरसा एजुकेशन डाटा के अनुसार, केरल एक शिक्षित राज्य है लेकिन आईएसआईएस में सबसे ज्यादा आतं’की केरल से ही जुड़े हैं।’

तो वहीं दीपक चौरसिया ने अपने ट्वीट में कहा था, ‘केरल में गर्भवती हथिनी की ह’त्या के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। ह’त्या के मामले में अमजद अली और तमीम शेख की गिरफ्तारी हुई है। इन आरोपियों पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

हालांकि क्विंट ने जब प्रिंसिपल चीफ कंजर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट (वाइल्डलाइफ) और चीफ वाइल्डलाइफ वॉर्डन सुरेंद्र कुमार से बात की, जिन्होंने कंफर्म किया कि इस मामले में सिर्फ एक गिरफ्तारी हुई है और उस शख्स का नाम विल्सन है। वहीं डीडी न्यूज मलयालम ने ट्वीट कर साफ कर दिया कि अभी तक हाथी की ह’त्या के मामले में एक आरोपी पकड़ा गया है और उसका नाम विल्सन है। साथ ही दो अन्य संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE