‘ख्वाजा की शान में गुस्ताखी लेकिन दरगाह दीवान के मुंह से नहीं निकले दो शब्द’

अजमेर स्थित हजरत ख्वाजा गरीब नवाज (रह) की दरगाह के दीवान ज़ैनुल आबेदिन को हर फिजूल के मौके पर मीडिया में बोलते हुए देखा जा सकता है। लेकिन आज जब न्यूज़ 18 के एंकर अमीश देवगन ने ख्वाजा साहब की शान में गुस्ताखी की तो दरगाह दीवान के मुंह से दो शब्द नहीं निकले।

ख्वाजा साहब के आस्ताने से दरगाह दीवान को अपनी मनपसंद पार्टी के हित में हर समय बोलते हुए देखा जा सकता है। मीडिया में उनके लंबे-लंबे बयान जारी होते है। दरगाह के नाम से कई-कई मिनट की मीडिया बाइट देते हुए नजर आते है।

खुद को सय्यद, आले रसूल, आले हसनेन बताने वाला ये शख्स अब मुंह को सिले हुए बैठा है। पर्दे के पीछे से अपने राजनीतिक आकाओं के इशारों पर डेमेज कंट्रोल में जुटे हुए है।  गाय, पाकिस्तान, आतंकवाद, जैसे मुद्दों पर मुसलमानों को ख्वाजा का वास्ता देकर नसीहत करने वाले  ख्वाजा साहब  साहब की शान में गुस्ताखी पर आज अपने हुजरे से भी बाहर नहीं आए।

दूसरी और देश भर में ख्वाजा के गुलाम कोरोना संकट के बावजूद सड़कों पर निकल आए। सैकड़ों एफ़आईआर की जा चुकी है। ये सिलसिला अब भी जारी है। बरेली से लेकर मारहरा शरीफ तक उलेमाओं ने, गद्दीनशीनों ने न केवल सख्त एहतजाज जताया। बल्कि कानूनी कार्रवाई भी की। अदलतों के दरवाजे खटखटाए जा रहे है।

रजा अकादमी मुंबई में एफ़आईआर दर्ज करा चुकी है। मारहरा शरीफ से अमीश देवगन और न्यूज़ 18 को लीगल कार्रवाई का नोटिस जारी किया चुका है। इसके अलावा अब इस मामले में हर स्तर पर विरोध जताने की कोशिश जारी है। वहीं दरगाह दीवान की ये चुप्पी शर्मनाक है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE