गौ मूत्र और गोबर से कोरोना वायरस को किया जा सकता है खत्म: स्वामी चक्रपाणी महाराज

पिछले महीने चीन के वुहान से फैले कोरोना वायरस को लेकर दुनिया भर में इलाज के अभाव में ग्लोबल इमरजेंसी घोषित कर दी गई है। हिन्दू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणी महाराज ने ‘कोरोना वायरस’ के जड़ से इलाज का दावा करते हुए कहा कि गौ मूत्र और गाय के गोबर से ये संभव है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए एक विशेष यज्ञ का आयोजन किया जाएगा से दुनिया भर से कोरोना वायरस का विनाश हो जाए। चक्रपाणी महाराज ने कहा कि अगर कोई गाय के गोबर का लेप शरीर पर लगाए और ‘ओम नमः शिवाय’ के मंत्र का जाप करे तो वह बच सकता है।

बता दें कि चीन में कोरोना वायरस के संक्रमण से 259 से अधिक लोगों की जा’न चली गयी है और करीब 10,000 अन्य उसकी चपेट में आ चुके हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शुक्रवार को आगाह किया कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सीमाओं को बंद करना संभवत: कारगर नहीं होगा बल्कि इससे और तेजी से विषाणु फैल सकता है।

डब्ल्यूएचओ की प्रवक्ता क्रिश्चियन लिंडमीयर ने पत्रकारों से कहा कि अगर आप आधिकारिक रूप से सीमा बंद कर देते हैं तब आप लोगों पर नजर रखने (सीमा पार करने वालों)की व्यवस्था से चूक जाते हैं।

चीन के वुहान से फैलते हुए अब कोरोना वायरस कई देशों में दस्तक दे चुका है। अब तक कुल 21 देशों में कोरोना वायरस से जुड़े मामले सामने आ चुके हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE