श’र्मनाक: आगरा के क्वारंटाइन सेंटर में कोरोना सं’दिग्ध के साथ अछू’तों सा बर्ताव

उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस महा’मारी से जंग में आगरा में बनाए गए एक क्वारंटाइन सेंटर का वीडियो सामने आया है। वीडियो में कोरोना संदि’ग्ध के साथ जानवरों सा बर्ताव किया जा रहा है। वीडियो में पीपीई पहने एक शख्स वहां मौजूद लोगों को कथित तौर पर पानी की बोतलें और खाने के पैकेट फेंककर देता हुआ नजर आ रहा है।

आगरा-दिल्ली हाईवे पर स्थित एक क्वादरंटाइन सेंटर में आइसोलेट किए लोगों के साथ अछूतों जैसा व्यवहार किया जा रहा है। यहां क्वारंटीन किए गए लोगों को जानवरों की तरह सामने से खाने का सामान डाला जा रहा है और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ रही हैं। यहां पर बंद गेट के शटर से लोगों को खाना दिया जा रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद आगरा के जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने सीडीओ को जांच करने के आदेश दिए हैं।

जानकारी के अनुसार, शारदा ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट (SGI) में बने क्वावरंटाइन सेंटर के लोगों ने खुद इस वीडियो को बनाकर वायरल किया है। वीडियो में देखा जा सकता है कि पीपीई किट पहनकर सरकारी कर्मचारी एसजीआई के मरीजों को पानी की बोतलों और बिस्किट के पैकटों को दूर से फेंककर उन्हें दिया जा रहा है। दरवाजा बंद था और लोग सामान लेने के लिए एक-दूसरे पर टूट पड़ रहे थे।

कोरोना संक्रमित एक संदिग्ध व्यक्ति ने बताया कि बेडशीट को दो दिन से चेंज नहीं की गई है। टॉयलेट गंदे पड़े हुए हैं और खाना भी ठीक नहीं है। परिसर में सफाई व्यवस्था ठीक नहीं है और हर दिन सैनिटाइजेशन भी नहीं हो रहा है।

जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह और एसएसपी बबलू कुमार एसजीआई और हिंदुस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट पहुंचे, जहां अफसरों की मौजूदगी में सफाई अभियान चलाया गया। साथ ही लोगों को एक मीटर की शारीरिक दूरी के पालन के आदेश दिए गए।

डीएम प्रभु एन सिंह ने बताया कि एसजीआई से मिली शिकायतों के बारे में उन्‍होंने निरीक्षण किया। अब व्यवस्थाएं ठीक करा दी गई हैं। शि’काय’त के आधार पर मुख्य विकास अधिकारी को अलग से जिम्मेदारी तय करने के लिए कहा गया है। साथ ही किसकी कमी थी इस बारे में एक रिपोर्ट मांगी गई है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE