भड़काऊ भाषण को लेकर सुरेश चव्हाणके के खिलाफ सीएम हेमंत सोरेन ने दिए जांच के आदेश

सुर्दशन चैनल के चेयरमैन और एडिटर इन चीफ सुरेश चव्हाणके झारखंड की राजधानी रांची के होटल में दिए भड़काऊ भाषण को लेकर परेशानी में आ गए। दरअसल, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इस मामले में पुलिस को जांच के आदेश देते हुए कारवाई करने को कहा है।

दरअसल, रांची के एक होटल में एक कार्यक्रम के दौरान सुरेश चव्हाणके ने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का बहिष्कार करने की बात कहीं थी। जिसका सोशल मीडिया में वायरल हैं। उनके इस वीडियो पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने संज्ञान लेते हुए पुलिस को आवश्यक कार्रवाई करने का आदेश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि हम हर उस कोशिश या साजिश को नाकाम करेंगे जो अशांति उत्पन्न करेगा। सद्भावना बिगाडऩे वालों के लिए सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति है।

https://twitter.com/AnkitaP79673314/status/1236928440193998850?ref_src=twsrc%5Etfw

दरअसल, अंकिता पटेल नाम से ट्विटर यूजर ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को टैग करते हुए लिखा, मैं मुख्यमंत्री जी से अनुरोध करती हूं कि ऐसे असामाजिक तत्वों और सांप्रदायिक दंगाईयों को तत्काल गिरफ्तार करके जेल में डाले। सख्त व कड़ी कार्रवाई करें। झारखण्ड को इन नफरती घुसपैठियों के आतंक से बचायें। इनके बाप का झारखंड नहीं हैं, जो ये किसी का बहिष्कार करें।

इस ट्वीट को झारखंड का जवाब देते हुए झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लिखा गया, सरकार ने घटना और इस भाषण का संज्ञान लिया है। झारखंड पुलिस इस मामले की जांच कर रही है और जो उचित कार्रवाई होगी जल्द की जाएगी। झारखंड में सांप्रदायिक सौहार्द और भाईचारे को बिगाड़ने का प्रयास करने के वाले के लिए जीरो टालरेंस की नीति अपनाई जाएगी।

इसके बाद सुरेश चव्हाण के झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को टैग करते हुए लिखा, झारखंड में टीवी शो करना हो तो क्या स्क्रिप्ट पहले पास करवानी होगी? मैंने संवैधानिक अधिकारों के तहत संवैधानिक भाषा में अपना टीवी शो किया है। अभी तो शो चला भी नहीं और आपके ट्विटर चलाने वाले मियां झारखंड पुलिस को जांच का आदेश दे रहे हैं!


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE