No menu items!
25.1 C
New Delhi
Thursday, October 21, 2021

मिलाद-उन-नबी के झंडे को लेकर छत्तीसगढ़ के कवर्धा में…. 25 हिरा’सत में…

छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में सोमवार को मिलाद-उन-नबी के लिए लगाए गए हरे अर्धचंद्राकार झंडे को लेकर दो समुदायों के बीच विवाद हो गया। दोनों समुदायों के बीच हुई झड़पो के बाद मंगलवार को कर्फ्यू लगा दिया गया।

आईजी विवेकानंद सिन्हा ने कहा, “हमने 59 लोगों को गि’रफ्तार किया है और आगे की जांच कर रहे हैं। हम बदमाशों की पहचान करने के लिए घटना के वीडियो देख रहे हैं और उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।”

मंगलवार को हिंदुत्ववादी संगठनों के नेतृत्व में लगभग 3,000 लोगों की भीड़ ने त’लवारों, ला’ठियों  के साथ शहर की सड़कों पर मार्च किया, कथित तौर पर दूसरे समुदाय के लोगों के घरों और वाहनों पर हम’ला किया और पु’लिस कर्मियों पर पथराव किया।

अधिकारियों ने कहा कि एक दर्जन से अधिक लोग और पुलि’स कर्मी घा’यल हो गए, जिसके कारण पु’लिस को ला’ठीचार्ज करना पड़ा।

बता दें कि आगामी मिलाद-उन-नबी के अवसर पर शहर को हरे अर्धचंद्राकार झंडों से सजाया गया था। हिंदू से’ना के सदस्यों ने कथित तौर पर झंडे निकाले और उन्हें फाड़ दिया या जला दिया, जिससे शहर में मुस्लिम भावनाओं को ठेस पहुंची क्योंकि झंडा उनके विश्वास का प्रतिनिधित्व करता है।

फ्री प्रेस जर्नल ने बताया कि रविवार को लोहारा नाका पर अपने-अपने संप्रदाय की फ्लैश फहराने को लेकर दोनों समूह आपस में भिड़ गए और स्थिति तब बिगड़ने लगी जब दोनों धार्मिक समूहों ने अपने-अपने झंडे की मेजबानी के लिए विवादास्पद स्थान पर अपना दावा किया।

Get in Touch

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Get in Touch

0FansLike
2,986FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Latest Posts