चीन ने पैंगोंग झील से नहीं हटाए चीनी सैनिक, फिंगर-4 से पहले भारतीय सैनिकों को हटाने पर अड़ा

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिक अभी तक पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील और डेपसांग से पीछे नहीं हटे हैं। भारतीय और चीनी सैनिकों के हटने की प्रक्रिया लद्दाख सेक्टर में गलवान घाटी, हॉट स्प्रिंग्स और गोगरा पोस्ट में शुरू हुई है। हालांकि यह अभी तक सत्यापित नहीं है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक  पैंगोंग सो में अब तक दोनों देशों की सेनाओं की तरफ से कोई मूवमेंट नहीं हुआ है। यानी दोनों देश ही अभी इस इलाके में आमने-सामने हैं। इससे पहले सोमवार को खबर आई थी कि चीन ने फिंगर-4 इलाके से पीछे हटकर फिंगर-5 पर कब्जा किया है। हालांकि, यह बहुत छोटी दूरी है।

फिंगर-4 में चीनी सैनिक 120 से अधिक वाहन और एक दर्जन नाव लेकर आए हुए हैं। इसके अलावा चीनी सेना ने भी गलवान के उत्तर में पठार डेपसांग बुल के पास के क्षेत्र में एक नया मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने शिविर स्थापित करने के साथ ही वाहनों और सैनिकों को तैनात किया है।

हालांकि गतिरोध खत्म करने के लिए दोनों देशों के ओर के सैन्य कमांडर एक-दूसरे के लगातार संपर्क में हैं। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने सोमवार को कहा था कि दोनों पक्ष सीमा पर गतिरोध को कम करने के लिए प्रभावी उपाय कर रहे हैं। हालांकि, भारत पूरी तरह से सतर्क है और उसकी सेना और वायु सेना हाई अलर्ट पर है।

सूत्रों ने न्यूज वेबसाइट डेक्कन क्रॉनिकल को बताया कि जब गलवान और हॉट स्प्रिंग्स-गोगरा इलाके से तनाव कम हो जाएगा, तब दोनों देशों के बीच कोर कमांडर स्तर की बैठक होगी, ताकि अंदरुनी इलाकों से भी सेना हटाने पर बातचीत हो सके और अप्रैल की एलएसी की स्थिति पर वापस लौटा जा सके।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE