चीन ने सीमा पर तैनात किए 20 हजार से ज्यादा सैनिक, दो अतिरिक्त डिविजन भी मंगाए

लद्दाख बॉर्डर पर मानो चीन युद्ध की तैयारियां कर रहा है। दरअसल चीन ने LAC पर 20 हजार से ज्यादा सैनिकों की तैनाती की है। इतना ही नहीं चीन की ओर से सेना के दो डिविजन की तैनाती भारतीय सीमा पर की गई है। चीन ने दो हजार किलोमीटर दूर से अतिरिक्त डिविजन मंगाए हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार,  चीनी सेना ने पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर सैनिकों के दो डिविजन (करीब 20 हजार) को तैनात कर रखा है। इसके अलावा, अन्य डिविजन (10 हजार सैनिक) को उसने उत्तर-पूर्वी जिनजियांग प्रांत में मोर्चे से करीब 1 हजार किलोमीटर की दूरी पर लगा रखा है, लेकिन चीन की तरफ समतल होने के कारण वे हमारे मोर्चे पर 48 घंटे में पहुंच सकते है।

खबर है कि चीन के तिब्बत और शिनजियांग प्रांत में मौजूद 10 हजार अतिरिक्त सैनिक बीते दिनों से युद्धाभ्यास कर रहे हैं। वहीं अब भारतीय पक्ष ने भी स्थिति संभाल ली है और पूर्वी लद्दाख क्षेत्र के आस-पास के स्थानों पर कम से कम दो और डिवीजनों को बढ़ा दिया है।

वहीं एक्सपर्ट का मानना है कि ऐसा सितंबर-अक्टूबर तक जारी रह सकता है, उसके बाद जब झील जम जाएगी यानी ठंड होगी तब सेना की वहां तैनाती में कमी आ सकती है। भारत और चीन के बीच पिछले 6 हफ्तों से बातचीत का दौर जारी है लेकिन चीनी जवान पीछे हटने को तैयार नहीं हैं।

गलवान में पेट्रोल पॉइंट 14 के अलावा पैंगोंग झील और फिंगर एरिया में भी चीन ने जवानों की संख्या बढ़ाई है। फिंगर 8 इलाके में उन्होंने अपना प्रशासनिक बेस तैयार किया है जहां भारी वाहन और बड़ी नावें भी हैं। इस बीच चीन की तरफ से सैनिकों की तैनाती बढ़ाए जाने के बाद  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और आर्मी चीफ जनरल मनोज मुकुंद नरवाने शुक्रवार को सुरक्षा  का जायदा लेने लेह जाएंगे।

हिन्‍दुस्‍तान टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक इंडियन नेवी की तरफ से हाई पावर और ज्‍यादा क्षमता वाली नावों को लद्दाख भेजा जा रहा है। नेवी की तरफ से भेजी जा रही ये नाव चीनी सेना के पास मौजूद टाइप 928B जहाजों का जवाब है। भारतीय जवान इन नावों पर सवार होकर सीमा की निगरानी करते हैं।

भारतीय नौसेना को किसी भी अप्रिय गतिविधि को रोकने के लिए अंडमान सागर से फारस की खाड़ी तक जहाजों की आवाजाही की निगरानी करने वाले अपने नौसैनिक बेड़े के तैनात किए हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE