No menu items!
31.1 C
New Delhi
Friday, September 17, 2021

PM मोदी के सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर आया दिल्ली हाईकोर्ट का बड़ा आदेश, रोक लगाने की मांग की गई थी

- Advertisement -

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को राष्ट्रीय महत्व का मानते हुए, दिल्ली उच्च न्यायालय ने सोमवार को उस याचिका को खारिज कर दिया है। जिसमे कोविड -19 महामारी के चरम चरण के दौरान सेंट्रल विस्टा एवेन्यू में हो रहे निर्माण पर रोक लगाने की मांग की गई थी। साथ ही याचिकाकर्ता पर एक लाख रुपए का जु’र्माना भी लगाया गया है।

मुख्य न्यायाधीश डीएन पटेल और न्यायमूर्ति ज्योति सिंह की खंडपीठ ने कहा कि सेंट्रल विस्टा एवेन्यू का काम सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट और महत्वपूर्ण सार्वजनिक महत्व के काम का हिस्सा है। इसमें कहा गया है कि सेंट्रल विस्टा एवेन्यू पुनर्विकास के निर्माण को अलग-थलग करके नहीं देखा जा सकता है।

अदालत ने कहा, “चूंकि परियोजना में काम कर रहे कर्मचारी साइट पर रह रहे हैं, सेंट्रल विस्टा एवेन्यू पुनर्विकास परियोजना के काम को निलंबित करने के निर्देश जारी करने का कोई सवाल ही नहीं है।” अदालत ने कहा, 19 अप्रैल के आदेश में डीडीएमए ने निर्माण को प्रतिबंधित नहीं किया है। मजदूर गतिविधि साइट पर रह रहे हैं।

कोर्ट ने 17 मई को इस मामले में अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। यह कहते हुए कि संपूर्ण सेंट्रल विस्टा परियोजना राष्ट्रीय महत्व की एक आवश्यक परियोजना है, अदालत ने सोमवार को कहा कि संसद के संप्रभु कार्य भी वहां आयोजित होने जा रहे हैं और जनता इस परियोजना में बहुत रुचि रखती है।

अदालत ने कहा, “माननीय सर्वोच्च न्यायालय द्वारा परियोजना की वैधता को बरकरार रखा गया है।” पीठ ने कहा, “काम समयबद्ध कार्यक्रम के भीतर पूरा किया जाना है,” एक बार जब कार्यकर्ता साइट पर रह रहे हैं और “सभी सुविधाएं प्रदान की गई हैं, तो कोवि’ड ​​​​-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जाता है।” तो अदालत के पास परियोजना को रोकने का कोई कारण नहीं है।

अदालत ने याचिकाकर्ताओं पर जुर्माना लगाते हुए कहा, “यह याचिकाकर्ता की पसंद की गई एक याचिका है और यह वास्तविक जनहित याचिका नहीं है।” अन्या मल्होत्रा, और इतिहासकार और फिल्म निर्माता सोहेल हाशमी द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि वे परियोजना स्थल पर निरंतर निर्माण और श्रमिकों की दुर्दशा से उत्पन्न “सुपर स्प्रेडिंग क्षमता और ख’तरे” से चिंतित हैं।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article