Home राष्ट्रिय BSF ने पतंजलि के साथ तोड़ा जवानों को योग सिखाने का करार

BSF ने पतंजलि के साथ तोड़ा जवानों को योग सिखाने का करार

788
SHARE

बाबा रामदेव की पतंजलि को BSF की और से बड़ा झटका लगा है। BSF ने पतंजलि के साथ जवानों को योग सिखाने का करार तोड़ दिया है। BSF ने ये करार अब ईशा फाउंडेशन को दिया है।

जग्गी वासुदेव के ईशा फाउंडेशन से करार के बाद अंतरराष्टीय योग दिवस पर जग्गी वासुदेव खुद सियाचीन के बेस कैंप में जवानों को ट्रेनिंग देते नजर आए। बता दें कि बीते दो सालों से पतंजलि BSF जवानों को योगा की ट्रेनिंग दे रही थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

अब बीएसएफ का कहना है सिर्फ एक ही व्यक्ति या संस्था से ट्रेनिंग लेने की कोई बाध्यता नहीं थी, ऐसे में यह फैसला लिया गया। अब बाबा रामदेव की पतंजलि से बीएसएफ का कोई करार नहीं है।

 बीएसएफ के अलावा ईशा फाउंडेशन अब सीआरपीएफ, सीआइएसएफ, कोस्ट गार्ड और सेना के जवानों को योगा सिखा रखा है। इस साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर ढाई सौ सेना के जवानों को सियाचीन के आर्मी बेस कैंप में जग्गी वासुदेव ने ट्रेनिंग दी।

बीएसएफ के डीजी केके शर्मा ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया-बाबा रामदेव ने 2016 में चार हजार जवानों को प्रशिक्षित किया, मगर अब सेना उनकी सेवाओं का उपयोग नहीं करती है। अब बीएसएफ का बाबा रामदेव से कोई संबंध नहीं रह गया है।

Loading...