आरएसएस से जुड़े मजदूर संघ की अमित शाह से मुलाकात, कहा – मजदूरों को अपन घर पहुंचना सुनिश्चित करे सरकार

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) से जुड़े संगठन भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) ने प्रवासी मजदूरों को लेकर शुक्रवार को गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात कर कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित असंगठित क्षेत्र के कामगारों को वित्तीय सहायता देने तथा खाड़ी देशों से लौट रहे लोगों का पुनर्वास करने की व्यवस्था करने की केंद्र सरकार से मांग की।

बीएमएस ने अमित शाह से अपील की है कि वे प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए पांच-स्तरीय रणनीति अपनाएं। जिससे जहां वे फंसे हैं उन्हें काम मिले, ताकि उनकी आर्थिक तंगी कम हो। वहीं सरकार ये भी सुनिश्चित करे कि जो मजूदर रास्ते में हैं वो अपने घर तक पहुंच जाएं।

भारतीय मजदूर संघ ने अपील की कि जो मजदूर अपने कार्यस्थल के करीब हैं उनको काम दिया जाए। ये एक्सपोर्ट यूनिट, कंस्ट्रक्शन साइट्स और स्मॉल और मीडियम एंटरप्राइजेज को खोलने की अनुमति देकर किया जा सकता है। बीएमएस के अनुसार, जो प्रवासी श्रमिक घर पहुंच चुके हैं, उन्हें मनरेगा के तहत तत्काल रोजगार प्राप्त करने की अनुमति दी जा सकती है। इस तरह एक पखवाड़े या एक महीने के लिए उनके घर के आसपास रोजगार पैदा हो सकता है।

संगठन ने कहा कि केंद्र सरकार इस संदर्भ में दिल्ली, केरल और तेलंगाना की राज्य सरकारों द्वारा उठाये गये कुछ कदमों का पालन कर सकती है। बता दें कि देश के अलग-अलग इलाकों में फंसे प्रवासी मजदूरों का अपने घर लौटना जारी है।

हाल ही में  महाराष्ट्र के औरंगाबाद में ट्रेन की पटरी पर सोए प्रवासी मजदूरों को एक ट्रेन ने रौंद दियाऔरंगाबाद के जालना रेलवे लाइन के पास ये हादसा हुआ, जिसमें 16 मजदूरों की मौ’त हो गई


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE