बिलासपुर हाईकोर्ट ने BJP प्रवक्ता संबित पात्रा की गिरफ्तारी पर लगाई रोक

रायपुर। बिलासपुर हाईकोर्ट ने पूर्व पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरू और राजीव गांधी पर विवादित टिप्पणी मामले में भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्‍ता संबित पात्रा की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। बता दें कि संबित पात्रा को रायपुर पुलिस (Raipur Police) ने नोटिस जारी कर 8 जून को उपस्थित होने के निर्देश दिए थे।

संबित पात्रा ने वकील शरद मिश्रा के जरिए हाईकोर्ट में रिट याचिका दायर की थी। गुस्र्वार को मामले की सुनवाई जस्टिस संजय के अग्रवाल के सिंगल बेंच में हुई। मामले की सुनवाई के बाद जस्टिस अग्रवाल ने गिरफ्तारी पर रोक लगाते हुए राज्य शासन को नोटिस जारी करने और जवाब पेश करने कहा है। याचिका पर अगली सुनवाई चार सप्ताह बाद होगी।

विवादित टिप्पणी मामले में संबित पात्रा पर रायपुर के सिविल लाइन्स थाने में मामला दर्ज है। आरोप है कि 10 मई को भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट से 1984 के सिख विरोधी दंगों और पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू और राजीव गांधी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी (Offensive Comment) किया था

एनएसयूआई के नेताओं की शिकायत में कहा गया था कि जब किसी भी मामले में पूर्व प्रधानमंत्री को अदालत द्वारा दोषी नहीं ठहराया गया था तो ऐसे में जानबूझकर कोरोना संकट के समय में तरह की बातें बीजेपी प्रवक्ता द्वारा फैलाई जा रही है।

केस दर्ज होने के बाद रायपुर पुलिस ने उन्हें नोटिस जारी कर 19 मई को पहली बार उपस्थित होने के लिए कहा था। उसके बाद दूसरी नोटिस में उन्हें 2 जून को पेश होने को कहा गया था। हालांकि इसी बीच उनकी कथित तौर पर तबीयत खराब हो गई और वह अस्पताल में भर्ती हो गए। संबित पात्रा को रविवार देर रात को अस्पताल से छुट्टी भी दे दी गई।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE