कैंसर से तंग आकर भाजपा नेता ने चंबल नदी में लगाई छलांग, तलाश में जुटी पुलिस

मुरैना में कैंसर से तंग आकर एक भाजपा नेता ने चंबल नदी में छलांग लगा दी। वरिष्ठ भाजपा नेता नरेश गुप्ता (Naresh Gupta) का अब तक कोई पता नहीं चल पाया है। गुप्ता ने कूदने से पहले एक सुसाइड नोट छोड़ा है। इसमें उन्होंने अपने भाइयों से माफी मांगी है। साथ ही अपने इकलौते बेटे का ध्यान रखने का आग्रह भी किया है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता नरेश गुप्ता कुछ समय से कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे। सुसाइड नोट में भी उन्होंने अपनी बीमारी का ज़िक्र किया और लिखा कि वह बीमारी से तंग आ चुके हैं। अब उन्हें कैंसर का दर्द बर्दाश्त नहीं होता। वो खुद को और अपने परिवार वालों को इस परेशानी से निजात दिलाने के लिए यह कदम उठा रहे हैं।

परिवार के मुताबिक कल दोपहर को भाजपा नेता नरेश गुप्ता डॉक्टर को दिखा कर लौटे थे। डॉक्टर ने बताया था कि उनकी बीमारी पूरे शरीर में फैल गयी है। वो तब से डिप्रेशन में थे। आधी रात में वो बिना किसी को बताए चुपचाप घर से निकल गए। वो स्कूटर से चंबल पुल पर पहुंचे और वहां से नदी में छलांग लगा दी।

नरेश गुप्ता की पत्नी की मौ’त भी करीब चार साल पहले हो चुकी थी। तब नरेश गुप्ता हाईवे स्थित एक मंदिर से पत्नी के साथ घर आ रहे थे, तभी ट्रक ने टक्कर मार दी थी। हादसे में पत्नी के मारे जाने के बाद गुप्ता परेशान चल रहे थे। राजस्थान के भरतपुर जिले से बुलाए गए गोताखोर और सरायछौला थाना पुलिस नदी में नरेश गुप्ता को ढूंढ रही है।

गुप्ता के बेटे नितिन ने बताया कि पापा रात 10 बजे तक घर पर ही थे और उन्होंने सभी के साथ खाना खाया था। बाद में पता नहीं चला कि वे कब चले गए। वे सामान्य रूप से पार्क आदि में घूमने जाते थे। गुप्ता ने प्रदेश के तकरीबन सभी वरिष्ठ नेताओं के साथ काम किया है और उनसे उनके अच्छे संबंध हैं। इनमें प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह भी शामिल हैं।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE