लखनऊ में मीट, मछली की बिक्री पर लगाई गई रोक, ये बड़ी वजह आई सामने

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में खुले में मांस-मछली की बिक्री पर प्रशासन ने रोक लगा दी है। लखनऊ के जिला मजिस्ट्रेट अभिषेक प्रकाश ने कहा, “होटल और रेस्तरां को स्वच्छता और सफाई सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।”

न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत करते हुए लखनऊ डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा, ‘मीट से कोरोना वायरस न फैले, इसे सुनिश्चित करने के लिए खुले में मीट, सेमी कूक्ड मीट और मछली की ब्रिकी को प्रतिबंधित कर दिया गया है। होटल और रेस्टोरेंट को साफ-सफाई और हाइजिन का ध्यान रखने के लिए निर्देश दे दिए गए हैं।

ज़िलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि लखनऊ के 6 अस्पतालों में कुल 71 बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। एयरपोर्ट पर विदेश से आने-वाले हर शख्स की थर्मल स्क्रीनिंग का काम चल रहा है। होली के त्यौहार को देखते हुए जागरूकता का काम भी किया जा रहा है, ताकि कोरोना का संक्रमण ना फैले।

उल्लेखनीय है कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने गुरुवार को राज्यसभा में बताया कि चार मार्च तक भारत में कोरोना वायरस के 29 पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। उन्होंने कहा कि मैं रोजाना स्थिति की समीक्षा कर रहा हूं और मंत्रियों का एक समूह भी स्थिति की निगरानी कर रहा है।

नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने सुझाव दिया कि हवाईअड्डों की तर्ज पर ही रेलवे स्टेशन और बस स्टेंड पर भी स्क्रींिनग की सुविधा दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्थलों में संक्रमण के सर्वाधिक खतरे वाले स्थानों में रेलवे स्टेशन और बस स्टेंड भी शामिल हैं। इसलिये उन्होंने पूरे देश में सभी प्रमुख रेलवे स्टेशनों और बस स्टेंड पर भी थर्मल स्क्रीनिंग सुविधा देने और प्रत्येक जिले में कम से कम एक निगरानी एवं नियंत्रण केन्द्र शुरु करने का भी सुझाव दिया।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE