Home राष्ट्रिय अमेरिकी कम्पनी की नाराज़गी के बाद IIT चेन्नई के कार्यक्रम से बाबा...

अमेरिकी कम्पनी की नाराज़गी के बाद IIT चेन्नई के कार्यक्रम से बाबा रामदेव का नाम वापिस

195
SHARE

चेन्नई । योग गुरु बाबा रामदेव आज देश के सबसे बड़े कारोबारियों में से एक है। उनकी कम्पनी पतंजलि ने स्वदेशी उत्पादों के दम पर देश के बाज़ार में अपनी एक अलग पहचान बनायी है। एक कारोबारी से ज़्यादा बाबा रामदेव की पहचान एक योग गुरु के रूप में ज़्यादा है। उनके योग के बल पर काफ़ी मरीज़ स्वास्थ्य लाभ ले चुके है। वह कई बार दवा कर चुके है की योग से कैन्सर जैसी बीमारी भी ठीक हो सकती है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

स्वास्थ्य क्षेत्र में उनके योगदान को देखते हुए काफ़ी संस्थान उनको अपने यहाँ लेक्चर देने के लिए भी बुलाते है। IIT चेन्नई ने भी उनको अपने एक कार्यक्रम में चीफ़ गेस्ट के तौर पर आमंत्रित किया था। लेकिन अब ख़बर है की बाबा रामदेव ने इस कार्यक्रम से अपना नाम वापिस ले लिया है। बताया जा रहा है की कार्यक्रम को स्पोंसर कर रही एक अमेरिकी कम्पनी की नाराज़गी की वजह से बाबा रामदेव ने अपना नाम वापिस ले लिया।

‘द न्यू इंडियन एक्सप्रेस’ में छपी के अनुसार इस कॉन्फ्रेंस में बाबा रामदेव चीफ गेस्ट थे और कैंसर के रोकथाम पर वो बोलने वाले थे। लेकिन कॉन्फ्रेंस के स्पॉन्सर के साथ-साथ कई और मेडिकल क्षेत्र से जुड़े लोगों ने रामदेव की मौजूदगी पर नाराजगी जताई, जिसके बाद उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया है। मीडिया रिपोर्ट में यह भी बताया जा रहा है की बाबा रामदेव इस कार्यक्रम में अपनी कम्पनी का लोगों लगवाना चाहते थे।

लेकिन अमेरिकी कम्पनी इसके लिए राज़ी नही हुई। हालाँकि IIT चेन्नई के प्रोफेसर डी करुंगारन ने बताया की उनका पहले से ही किसी अन्य जगह जाने का कार्यक्रम था इसलिए उन्होंने अपना नाम वापिस लिया है। यह कार्यक्रम 8 से 11 फ़रवरी के बीच होना था। बताते चले की पतंजलि के बढ़ते प्रभाव की वजह से  विदेशी कंपनिया को काफ़ी नुक़सान हो रहा है।

Loading...