योगी सरकार ने न्यूज चैनलों पर कसी नकेल – भूमि पूजन के दौरान डिबेट में शामिल नहीं होंगे विवादित पक्षकार

अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन के दौरान किसी भी विवाद से बचने के लिए योगी सरकार ने न्यूज चैनलों पर नकेल कसना शुरू कर दी है। इस सबंध में योगी सरकार ने एक आदेश जारी किया है। जिसके तहत भूमि पूजन का कवरेज करने वाले टीवी चैनलों से विवादित पक्ष को टीवी डिबेट में नहीं बुलाने का लिखित आश्वासन मांगा गया है।

अयोध्या के जिलाधिकारी ने निर्देश जारी किया, जिसमे कहा गया कि भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान आयोजित न्‍यूज चैनल के कार्यक्रम में किसी व्यक्ति या धर्म के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं होनी चाहिए। समाचार चैनलों को कोई कार्यक्रम करने से पहले अनुमति लेनी होगी और प्रशासन को एक शपथपत्र भी देना होगा।

उप निदेशक, सूचना मुरलीधर सिंह ने कहा है कि हमने समाचार चैनलों को एक परामर्श जारी किया है। उन्हें कार्यक्रम आयोजित करने के लिए मजिस्ट्रेट से पूर्व अनुमति लेनी होगी। साथ ही सीमित संख्या में पैनलिस्ट की अनुमति होगी और किसी भी प्रसारण या रिकॉर्डिंग में दर्शक या जनता को शामिल होने की अनुमति नहीं होगी।

समाचार चैनलों को भेजे गए प्रारूप में नौ मदों के तहत अनुमति लेने की आवश्यकता बताई गई है। इसके तहत एक कार्यक्रम के लिए एक निजी इनडोर स्थान की पहचान शामिल है। इसके अलावा कहा गया है कि इस उद्देश्य के लिए कोई सार्वजनिक स्थान का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

अंडरटेकिंग में इस बात की गारंटी देने को कहा गया है कि डिबेट में किसी विवादित पक्षकार को नहीं बुलाया जाएगा। इसके अलावा डिबेट के दौरान किसी भी धर्म, संप्रदाय, पंथ या व्यक्ति विशेष पर कोई टिप्पणी नहीं की जाएगी। चैनलों को सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन करने को कहा गया है। निर्देश में कहा गया है कि रिकॉर्डिंग के समय पैनलिस्ट के अलावा वहां भीड़ नहीं होनी चाहिए। जो भी लोग वहां हो, सभी को मास्क पहने होना चाहिए।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE