यूपी में पीएम मोदी ने दोहराया ‘सबका साथ, सबका विकास’ का वादा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को उत्तर प्रदेश की धार्मिक नगरी प्रयागराज में दिव्यांगों और बुजुर्गों को उपकरण बांटे और कहा कि देश की 130 करोड़ जनता के हितों की रक्षा करना उनकी सरकार की जिम्मेदारी है और सरकार इसे पूरा करने का पूरा प्रयास कर रही है और यही ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’ का आधार है।

उन्होंने यहां सामाजिक अधिकारिता शिविर में कहा कि पहली की सरकारों में दिव्यांगों को बेसहारा छोड़ दिया था, लेकिन राजग सरकार दिव्यांगों और बुजुर्गों की समस्याओं पर पूरा ध्यान दे रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार का दायित्व है कि हर व्यक्ति का भला हो। यही सोच तो सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास का मूल आधार है। आज भी कुछ ऐसा ही सौभाज्ञ मुझे मां गंगा के तट पर प्राप्त हुआ है। प्रधानसेवक के तौर पर मुझे हजारों दिव्यांगजनों, वरिष्ठ जनों की सेवा करने का अवसर मिला है।

मोदी ने कहा, ‘नए भारत के निर्माण में हर दिव्यांग युवा, दिव्यांग बच्चे की उचित भागीदारी आवश्यक है। चाहे वो उद्योग हों, सेवा का क्षेत्र हो या फिर खेल का मैदान, दिव्यांगों के कौशल को निरंतर प्रोत्साहित किया जा रहा है। हमारी सरकार ने सुगम्य भारत अभियान चलाकर सैकड़ों सरकारी इमारतों को दिव्यांगों के लिए सुगम्य बनाया। इसी तरह 700 से अधिक रेलवे स्टेशन और हवाईअड्डे दिव्यांगजन के लिए सुगम बनाए जा चुके हैं।’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘एक राज्य से दूसरे राज्य जाने वाले दिव्यांगों की भाषाई दिक्कतें दूर करने के लिए एक कॉमन साइन लैंग्वेज पर काम किया गया। इसके लिए सरकार ने इंडियन साइन लैंग्वेज रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना की। इससे तमिलनाडु और कश्मीर का व्यक्ति भी इस भाषा को समझ सकेंगे।’

उन्होंने कहा कि दिव्यांगों पर अगर कोई अ’त्याचार करता है, उन्हें परेशान करता है, तो इससे जुड़े नियमों को सख्त किया है। दिव्यांगों की नियुक्ति के लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। सरकारी नौकरियों में दिव्यांगों के लिए आरक्षण तीन प्रतिशत से बढ़ाकर चार प्रतिशत कर दिया है। इसी तरह शिक्षा में भी आरक्षण तीन से बढ़ाकर पांच प्रतिशत किया गया है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE