100 करोड़ वसूली के मामले में सीबीआई जांच के आदेश, अनिल देशमुख का इस्तीफा

पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के कथित सौ करोड़ वसूली के आरोप के बाद महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। दरअसल परमबीर सिंह के आरोपों पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने देशमुख के खिलाफ सीबीआई जांच का आदेश दिया है।

हाईकोर्ट ने 15 दिन के भीतर जांच रिपोर्ट भी सौंपने को कहा है। एनसीपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता और अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री नवाब ने कहा कि उच्च न्यायालय के निर्देशों के तुरंत बाद, देशमुख ने एनसीपी अध्यक्ष शरद पावा से मुलाकात की और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए इस्तीफे की पेशकश की।

मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति जी.एस. कुलकर्णी की खंडपीठ द्वारा सीबीआई को देशमुख के खिलाफ सिंह के आरोपों में 15 दिनों के भीतर ‘प्रारंभिक जांच’ करने का निर्देश दिया।  उच्च न्यायालय के फैसले के बाद, पवार द्वारा एक उच्च-स्तरीय एनसीपी बैठक बुलाई गई। बैठक में उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और अन्य वरिष्ठ नेता भी चर्चा के लिए मौजूद थे।

सीबीआई जांच के बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश पर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने संतोष जताया है। फडणवीस ने कहा कि अब तो नैतिकता के आधार पर अनिल देशमुख को इस्तीफा देना चाहिए। या फिर महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर का रास्ता दिखाना चाहिए।