No menu items!
27.1 C
New Delhi
Monday, September 27, 2021

दरगाह-ए-आला हजरत के मौलवी ने की सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाक़ात

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के बरेली में अहमद रजा खान बरेलवी की प्रसिद्ध दरगाह दरगाह-ए-आला हजरत से जुड़े एक मौलवी सलमान रजा ने हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ एक बैठक की। बैठक की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही।

सलमान रज़ा जमात रज़ा-ए-मुस्तफ़ा (JRM) के उपाध्यक्ष हैं, जो बरेलवी मुसलमानों का सबसे बड़ा संगठन है, जो यूपी में दरगाह-ए-आला हजरत की देखभाल करता है। इसके अलावा वह जमात रज़ा-ए-मुस्तफ़ा (JRM) के अध्यक्ष असजद रजा के दामाद भी हैं।

करीब 25 दिन पहले सलमान ने सीएम योगी से मुलाकात की थी। लेकिन हाल ही में लोगों को इसके बारे में पता चला जब इस मुलाकात की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई। बैठक में उनके साथ कांग्रेस नेता मेहदी हसन और समाजवादी पार्टी के नेता इकराम भी थे।

दरगाह-ए-आला हजरत के एक वरिष्ठ नेता और इसके वर्तमान अध्यक्ष असजद रजा के चाचा मन्नान रजा खान ने बैठक की निंदा की। उन्होने “वह [श्री सलमान] दरगाह बेचने गए थे। किसने उन्हें उन लोगों के पास जाने का सुझाव दिया जो न तो हमारे वोट चाहते हैं और न ही हमारे जैसे और जिन्होंने मुसलमानों के लिए परेशानी खड़ी की है?

जेआरएम के इतिहास पर उर्दू में किताब लिखने वाले लेखक मौलाना शहाबुद्दीन ने सलमान के बहिष्कार का आह्वान किया। उन्होने कहा, “ऐसे लोगों का सामाजिक, धार्मिक और राजनीतिक मंचों पर बहिष्कार करें। किसी को भी उनके कार्यक्रमों में नहीं जाना चाहिए और न ही उन्हें अपने कार्यक्रमों में बुलाना चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मौलाना शहाबुद्दीन के बेटे को सोशल मीडिया पर मुलाकात के बारे में एक पोस्ट लिखने के बाद उसे बरेली में पु’लिस ने हिरासत में ले लिया। कई घंटे बाद उसे छोड़ दिया गया। हालांकि सलमान ने इस संवाददाता से फोन पर बात करते हुए अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज कर दिया।

उन्होंने कहा कि वह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ मुस्लिम मुद्दों पर चर्चा करने गए थे। उन्होने कहा, “बाराबंकी मस्जिद के विध्वंस और यति नरसिंहानंद सरस्वती द्वारा पैगंबर मुहम्मद के खिलाफ की गई अपमानजनक टिप्पणी जैसे मुद्दों पर उनके साथ चर्चा की गई। उन्होंने हमें आश्वासन दिया कि वह इन मामलों को देखेंगे।”

बैठक को ‘गुप्त’ रखने के आरोपों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं मुख्यमंत्री और प्रधान मंत्री से भी बात करता रहता हूं और मैं इसे लोगों के सामने प्रकट करना आवश्यक नहीं समझता।

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article