Home राष्ट्रिय संसद में गूंजा अलवर हत्याकांड, राजनाथ ने कहा – 1984 में हुई...

संसद में गूंजा अलवर हत्याकांड, राजनाथ ने कहा – 1984 में हुई सबसे बड़ी लिंचिंग

985
SHARE

राजस्थान के अलवर में रकबर खान उर्फ अकबर खान नाम के शख्स की गौरक्षा के नाम पर हुई हत्या का मामला आज संसद में भी सुनाई दिया। कांग्रेस ने मॉब लिन्चिंग की घटनाओं की सुप्रीम कोर्ट के मौजूदा जज से जांच की मांग की। लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने अलवर लिन्चिंग मामले को उठाते हुए मांग की कि मॉब लिन्चिंग की घटनाओं की सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से जांच कराई जाए।

सीपीएम सांसद मोहम्मद सलीम ने अलवर हत्याकांड को उठाते हुए कहा कि इस तरह की घटनाएं चाहे अफवाहों की वजह से हों, गोरक्षा के नाम पर हों, बच्चा चोरी के शक में हो…खतरनाक हैं।  उन्होंने कहा, ‘यह सिर्फ हिंदू-मुसलमान का मामला नहीं है। स्वामी अग्निवेश तक पर हमला हो गया…त्रिपुरा और पश्चिम बंगाल में भी लिन्चिंग हो रही है…यह हेट पॉलिटिक्स है…देश में नफरत का माहौल बनाया जा रहा है।’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

तृणमूल कांग्रेस की शांता छेत्री ने कहा कि इस सरकार के सत्ता में आने के बाद से भीड़ द्वारा पीट-पीट कर मार डालने की घटनाओं में करीब 88 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और यह सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। शांता ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी इस मुद्दे पर कहा है कि यह ठीक नहीं है और सरकार को इस पर रोक लगाने के लिए एक कानून लाना चाहिए। उन्होंने सरकार से जानना चाहा कि ऐसी घटनाओं पर रोक लगाने के लिए और कानून बनाने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं।

इस पर जवाब देते हुए गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि लिन्चिंग की घटनाओं से सरकार चिंतित है और इसे गंभीरता से लिया है। उन्होंने कहा, ‘फिर दोहरा रहा हूं कि यह 2-4 सालों से शुरू नहीं हुई है बल्कि वर्षों से यह सिलसिला चलता आ रहा है….सबसे बड़ी लिन्चिंग की घटना 1984 में घटित हुई थी…लिन्चिंग की घटनाओं का राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।’

गृह मंत्री ने कहा, ‘कल होम सेक्रटरी की अध्यक्षता में हाई लेवल कमिटी गठित हुई…कमिटी 4 सप्ताह में रिकमेंडेशन देगी…रिकमेंडेशन पर मेरी अध्यक्षता वाली ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स फैसला लेगी…अगर नए कानून बनाने की जरूरत होगी तो हम वह भी करेंगे।’

Loading...