Home राष्ट्रिय अकबर हत्याकांड: परिजन बैठे धरने पर, शव को दफनाने से इंकार

अकबर हत्याकांड: परिजन बैठे धरने पर, शव को दफनाने से इंकार

3380
SHARE

राजस्थान के अलवर में कथित गौरक्षा के नाम पर गौरक्षकों के हाथों मारे गए अकबर के परिजन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर धरने पर बैठे हुए है। परिजनों ने शव को दफनाने से भी इंकार कर दिया है।

हरियाणा के नूंह जिले के कोलगांव  में सड़क पर अकबर का शव रखकर सभी धरना दे रहे हैं। अकबर की मां न ने कहा, ‘मुझे अपने बेटे के लिए न्याय चाहिए जिसकी हत्या कर दी गई, जब तक न्याय नहीं किया जाता तब तक हम उसके शरीर को दफन नहीं करेंगे।’ इसी बीच घंटों तक नेशनल हाईवे जाम होने और इससे बढ़ते तनाव को देखते हुए मैदान में उतरी पुलिस और राजस्थान सरकार ने जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस मामले में अब तक तीन लोगो की गिरफ्तारी हो चुकी है। गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों के नाम परमजीत, धर्मेंद्र यादव और रमेश शर्मा है। रमेश को आज ही पकड़ा गया है। पुलिस ने इस घटना में भारतीय दंड संहिता की धारा 321, 148, 341, 323, 302 और 34 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया हुआ है।

बताया जा रहे है कि पुलिस के आश्वासन के बाद अब पीड़ित परिवार अकबर खान को सुपुर्द-ए-खाक करने के लिये तैयार हो गया। पुलिस के मुताबिक हमलावरों ने अकबर को लात-घूसों से मारा और किसी हथियार का इस्तेमाल नहीं किया। वहीं, घटनास्थल से डरकर भागे असलम की खोजबीन की जा रही है और गायों को संरक्षण हेतु गोशाला भेज दिया गया है।

बता दें कि मृतक अकबर उर्फ़ रकबर पुत्र सुलेमान अपने साथी के साथ गायों को लेकर लालामंडी रामगढ़ से पैदल जा रहे थे। तभी रास्ते में कथित गौ रक्षकों के साथ ग्रामीणों ने उनकी पिटाई कर दी। इस दौरान अकबर का एक साथी तो भाग निकला, लेकिन अकबर भीड़ के हत्थे चढ़ गया। सूचना के बाद पुलिस ने अकबर को अस्पताल में भर्ती कराया था, जहां उसकी मौत हो गई।

Loading...