एलोपैथी विवाद में हाईकोर्ट ने बाबा रामदेव को नोटिस जारी कर एक सप्ताह में जवाब देने का दिया आदेश

0
249

दिल्ली उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को योग गुरु रामदेव को महामारी के दौरान एलोपैथी पर उनके बयानों के लिए डॉक्टरों के यूनियन द्वारा दायर याचिका पर जवाब देने के लिए एक सप्ताह का समय दिया।

जस्टिस हरि शंकर ने स्पष्ट किया कि रामदेव को जवाब नहीं मिलने की स्थिति में वह इस मामले में कार्यवाही शुरू करने की अनुमति नहीं देंगे। मामले की अगली सुनवाई 10 अगस्त को है।

विज्ञापन

याचिकाकर्ता चिकित्सक एसोसिएशनों की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता अखिल सिब्बल ने तर्क दिया कि मुकदमा दायर करने की अनुमति देने के लिए अदालत को केवल उसके समक्ष याचिका को देखना होता है और दूसरे पक्ष के जवाब की आवश्यकता नहीं होती।

अदालत ने रामदेव की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव नायर को जवाब दाखिल करने के लिए समय दिया और कहा, ‘यदि मुकदमा शुरू करने की अनुमति दी जाती है तो (रामदेव) इसके खिलाफ याचिका दाखिल कर सकते हैं। हम अगले सप्ताह इसपर विचार करेंगे। उन्हें जवाब दाखिल करने दीजिए।’

बता दें कि बाबा रामदेव के खिलाफ बयान को लेकर देशभर के विभिन्न राज्यों में शिकायतें दर्ज करवाई गई थी। हालांकि तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के हस्तक्षेप के बाद बाबा रामदेव ने अपना बयान वापस ले लिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here