निजीकरण का झटका – लखनऊ के बाद अन्य एयरपोर्ट पर भी 10 गुना चार्ज बढ़ाएगा अडानी ग्रुप

पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत देश के कई हवाई अड्डों का संचालन कर रहे अडानी ग्रुप ने लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर सुविधा शुल्क को बढ़ाकर दस गुना पहले ही कर चुका है। अब अडानी ग्रुप ने लखनऊ एयरपोर्ट की तरह देश के अन्य एयरपोर्ट पर भी 10 गुना चार्ज बढ़ाने की तैयारी कर ली है।

अडानी ग्रुप के पास लखनऊ सहित जयपुर, अहमदाबाद, गुवाहाटी, मैंगलोर और तिरुवनंतपुरम के हवाई अड्डों के संचालन की ज़िम्मेदारी है। हाल ही में ‘द इकनॉमिक टाइम्स’ ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि अडानी ग्रुप ने ने एक नई ग्राउंड हैंडलिंग कंपनी को हायर किया है। जिसके कारण दस गुना तक चार्ज में वृद्धि की गई हैं।’

एक बिज़नस जेट ऑपरेटर ने नाम न बताने कि शर्त पर कहा “एयरपोर्ट की सुविधाओं में ऐसा कोई बदलाव नहीं नज़र आता, जिससे बढ़े हुए टैरिफ को उचित ठहराया जा सके। लखनऊ आने वाले ज़्यादातर बिज़नस फ्लाइट चिकित्सा निकासी उड़ानें हैं। ऐसे में दस गुना तक चार्ज बढ़ाना ठीक नहीं है।

इसी बीच खबर है कि मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT) के पुनर्विकास के कॉन्ट्रैक्ट के लिए अडानी रेलवेज नौ कंपनियों के साथ दौड़ में शामिल है। अडानी रेलवेज के अलावा नौ चयनित बोलीदाताओं में गोदरेज प्रॉपर्टीज, ओबेरॉय रियल्टी, एंकोरेज इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट होल्डिंग्स, आईएसक्यू एशिया इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट्स, कल्पतरु पावर ट्रांसमिशन, मोरीबस होल्डिंग्स, जीएमआर एंटरप्राइजेज और बीआईएफ IV इंफ्रास्ट्रक्चर होल्डिंग डीआईएफसी हैं।

न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार, IRSDC के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ, एसके लोहिया ने बताया, ‘CSMT स्टेशन के रीडेवपलमेंट के लिए नौ फर्म RFQ (रिक्वेस्ट फॉर क्वोटेशन ) स्टेज के लिए चुने गए हैं। अगले चरण में IRSDC जल्दी ही एक रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (RFP) जारी करेगा। यह हमारे सबसे महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट्स में से है। हम CSMT स्टेशन को एक अत्याधुनिक ट्रांसपोर्ट हब बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।’

बता दें कि रेलवे निजी क्षेत्र के सहयोग से कुल 123 रेलवे स्टेशन के ​पुनर्विकास की योजना बना रहा है जिसमें 63 पर IRSDC और 60 पर RLDA काम करेगा। इन सभी स्टेशनों के पुनर्विकास पर करीब 50,000 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।