कोरोना: केंद्र ने 31 मार्च तक 75 शहरों को पूरी तरह बंद करने के दिए आदेश

कोरोना वायरस को लेकर केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए देश के 75 शहरों में पूर्ण बंदी का फैसला लिया है। ये फैसला उन शहरों के लिए लिया है, जहां पर कोरोनावायरस के संक्रमित मरीज मिले हैं।

देश के अलग अलग राज्य के 75 शहरों में कोरोना वायरस के कहर को देखते हुए लिया है। इन शहरों में 31 मार्च तक सिर्फ आवश्यक सेवाएं ही जारी रहेंगी। केंद्र सरकार ने इस बंदी के लिए राज्य सरकारों और उनके मुख्य सचिव को चिट्ठी जारी कर दी है।

रविवार को कैबिनेट सचिव ने एक आदेश दिया है। इस आदेश के मुताबिक, जिन जिलों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मामले अधिक आए हैं। वहां केंद्र सरकार ने लॉक डाउन घोषित कर दिया है। 31 मार्च तक गैर जरूरी यातायात पर पाबंदी लगा दी गई है। इस दौरान जीवनावश्यक वस्तुओं की सप्लाई जारी रहेगी

कैबिनेट सचिव और पीएम मोदी के प्रधान सचिव की सभी राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ रविवार सुबह हाई लेवल की एक मीटिंग में ये निर्णय लिए गए हैं। इस मीटिंग में इस बात पर सहमति बनी कि कोरोना के बढ़ते असर के मद्देनजर पाबंदियों को बढ़ाना जरूरी है। जिन 75 जिलों के व्यक्तियों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है उनमें संबंधित राज्य सरकारें आदेश जारी कर सुनिश्चित करेंगी कि इन जिलों में अनिवार्य सेवाएं छोड़कर अन्य सभी सेवाएं बंद रहेंगी।

इस मीटिंग कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गए हैं। उपनगरीय सहित सभी रेल सेवाएं 31 मार्च तक स्थगित रहेंगी, हालाँकि मालगाड़ियों को इससे छूट दी गई है। सभी मेट्रो रेल सेवाएं भी 31 मार्च तक स्थगित रहेंगी। जिन 75 जिलों के व्यक्तियों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है उनमें संबंधित राज्य सरकारें आदेश जारी कर सुनिश्चित करेंगी कि इन जिलों में अनिवार्य सेवाएं छोड़कर अन्य सभी सेवाएं बंद रहेंगी। इसके साथ ही अंतरराज्यीय बसें भी 31 मार्च तक स्थगित रहेंगी।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]