अमीरात की विशेष उड़ानों के जरिये 73 डॉक्टर, नर्स भारत से यूएई लौटे

नई दिल्ली: भारत में फंसे लगभग 73 डॉक्टरों, नर्सों को दुबई स्वास्थ्य प्राधिकरण (डीएचए) से विशेष मंजूरी के साथ संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की यात्रा करने की अनुमति दी गई, एस्टर डीएम फाउंडेशन ने गुरुवार को ये जनकारी दी।

एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया, “डीएचए द्वारा दी गई हरी झंडी के बाद, बुधवार को कुल 73 स्वास्थ्य कार्यकर्ता दो समूहों में विभाजित होकर यूएई के लिए रवाना हो गए।” एस्टर अस्पतालों और क्लीनिकों के कुल 250 चिकित्सा कर्मचारी जो उड़ान प्रतिबंध के कारण भारत में फंसे हुए थे, उनमे से डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिक्स का पहला जत्था यूएई लौट गया।

CO’VID सुरक्षा उपायों के साथ सुरक्षित रूप से यात्रा करने के लिए, 73 लोगों के समूह को दो भागों में विभाजित किया गया। उन्हे अमीरात की दो विशेष उड़ानों में ले जाया गया जो बुधवार की तड़के दुबई अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरीं।

यूएई के एस्टर अस्पतालों और क्लीनिकों के सीईओ डॉ शेरबाज़ बिचु ने कहा, “हमारे स्वास्थ्य पेशेवरों ने भारत के विभिन्न हिस्सों – कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, पांडिचेरी, महाराष्ट्र, हैदराबाद, मध्य प्रदेश से यात्रा की है, जो 7 जुलाई को कोचीन और बेंगलुरु [हवाई अड्डों] पर भारत से संयुक्त अरब अमीरात के लिए प्रस्थान करने वाली अपनी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के लिए उपस्थित होंगे।

उन्होने कहा, “हम दुबई सरकार, दुबई स्वास्थ्य प्राधिकरण, दुबई एयरपोर्ट अथॉरिटी और एमिरेट्स एयरलाइंस के प्रति हार्दिक आभार व्यक्त करते हैं, जिन्होंने हमारे लिए इस व्यवस्था को संभव बनाने में एस्टर को दिए गए सभी समर्थन के लिए। हमारे स्टाफ के लिए वापस आना और इस महामारी के दौरान दुबई के अस्पतालों के नेटवर्क में अंतराल को भरना महत्वपूर्ण था।”