कोरोना वायरस के चलते राजस्थान 31 मार्च तक पूरी तरह बंद, आपातकाल सुविधाओं पर छूट

जयपुर. कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को मद्देनजर रखते हुए राज्य की गहलोत सरकार ने प्रदेश में 31 मार्च तक लॉकडाउन घोषित कर दिया है। आवश्यक सेवाओं को छोड़कर आगामी 31 मार्च तक पूरा राजस्थान लॉक डाउन (Lock down) रहेगा। हालांकि, इस दौरान रोजमर्रा की जरूरत वाली सामानों जैसे सब्जी और दूध की दुकानों के साथ-साथ मेडिकल स्टोर खुले रहेंगे।

शनिवार रात को सीएम अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में यह फैसला लिया गया है। रात 9 बजे  इसकी आधिकारिक घोषणा कर दी गई। कोराना वायरस को लेकर लॉक डाउन होने वाला देश का पहला राज्य है। शनिवार को ही प्रदेश में आधा दर्जन नए पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। इन केस समेत राजस्थान में पॉजिटिव पीड़ितों की संख्या 23 हो चुकी है।

सीएम अशोक गहलोत ने लोगों से कि चीन से आई से पूरा विश्व चिंतित है। सरकार लोगों की जान बचाने के लिए हर बड़े फैसले ले रही है। अब जरूरत है कि मानवता को बचाने की इस लड़ाई में राजस्थान का हर व्यक्ति शामिल हो। आज जरूरत है कि प्रदेश का हर व्यक्ति अपने नागरिक धर्म का पालन करके सरकार का सहयोग करें। अफवाह फैलाने से बचे। इस निर्णायक लड़ाई में जहां भी सरकार की जरूरत होगी, वहां वह नागरिकों के साथ खड़ी मिलेगी।

वहीं, राजस्थान का भीलवाड़ा कोरोनाजोन बन गया है। दो दिन के अंदर यहां 13 पॉजिटिव मिल चुके हैं। शनिवार को बांगड़ हॉस्पिटल के 5 और नर्सिंगकर्मी पॉजिटिव मिले। शुक्रवार को भी इसी अस्पताल के 3 डॉक्टर समेत 6 लोग पीड़ित पाए गए थे। इन्हीं में से एक डॉक्टर की पत्नी और एक डॉक्टर के भाई को भी कोरोना पॉजिटिव मिला है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीमें भी यहां पहुंच गई हैं। अगले 72 घंटे क्रिटिकल माने जा रहे हैं। उधर, सीकर और पाली में  एक-एक कोरोना पॉजिटिव मिला है। प्रदेश में 24 घंटे के भीतर नौ नए मरीज मिले हैं और कुल आंकड़ा 26 तक पहुंच गया है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE