मुस्लिम थानेदार ने चीख-चीख कर पूछा – क्या मेरा मुसलमान होना गुनाह है ?

झारखंड के रांची के डोरंडा थाने में 18 जुलाई को एक ऐसा मामला पेश आया है। जिसने फिल्म सरफरोश के सलीम के किरदार को हकीकत मे जमीन पर लाकर रख दिया।

डोरंडा थाने में थानाप्रभारी के तौर पर पदस्थापित इंस्पेक्टर आबिद खान को एक हत्या के मामले मे बीजेपी नेता ने थाना परिसर में धर्म के कारण सरेआम अपमानित किया। जिसके बाद आबिद खान इतने आहत हुए कि उन्होने सीधे सवाल उठाया कि क्या मुसलमान होना मेरा गुनाह है? क्या मैं हिन्दुस्तानी नहीं हैं? क्या मुझे सरकार ने यहां पदस्थापित नहीं किया है?”

गुस्से में लाल खान ने कहा, “मेरा यही गुनाह है कि मैं मुसलमान हूं। आप लोग जितना कह रहे हैं, हम उतना बर्दाश्त कर रहे हैं। हमें सरकार ने यहां बैठाया है न कि खुद आकर थाने में बेठे हैं।” उन्होंने कहा, “हम इस देश के नागरिक नहीं हैं क्या? कोई नहीं कह सकता कि हम बेईमान हैं या चोर हैं।”

गलत व्यवहार से नाराज थाना प्रभारी ने पूछा, 'सिर्फ मेरा मुसलमान होना गुनाह है'

गलत व्यवहार से नाराज थाना प्रभारी ने पूछा, 'सिर्फ मेरा मुसलमान होना गुनाह है'

Posted by ABP News on Sunday, July 22, 2018

अब सोशल मीडिया पर इस घटना का विडियो वायरल हो रहा है। ऐसे में रांची के एसएसपी अनीस गुप्ता ने भी मामले की जांच कराने की बात कही है। बता दें कि राज्य में बीजेपी की रघुवर दास सरकार है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE