तुर्की में सीरियाई बच्चे ने हाई स्कूल एक्जाम में किया टॉप, दुनिया भर में हो रही चर्चा

सीरिया में यु’द्ध की भयावहता झेलने के बाद शरणार्थी के तौर पर तुर्की पहुंचे डेलार सफ़ो ने आज इतिहास रच दिया है। उन्होने तुर्की के हाई स्कूल एक्जाम में टॉप किया है।

डेलार सफ़ो ने बताया, “जब मैं पहली बार 2015 में तुर्की आया था, तो मैं तुर्की नहीं जानता था, और मैंने अपनी स्कूली शिक्षा तुर्की के दक्षिण-पूर्वी सीर्ट प्रांत में तीसरी कक्षा के छात्र के रूप में शुरू की थी।” उन्होने कहा, “मैंने लगभग दो साल पहले परीक्षा पर ध्यान देना शुरू किया।” जिसमें गणित और सामाजिक विज्ञान दोनों के प्रश्न शामिल हैं।

अपने स्कूल, कुर्तालान सेलाहद्दीन आईयूबी इमाम हातिप सेकेंडरी स्कूल में, उन्होंने कड़ी मेहनत की, और उनके शिक्षकों ने उन्हें लगातार प्रेरित करने की कोशिश की। खासकर जब महामारी के दौरान उनके शिक्षक नियमित रूप से उन्हें “व्हाट्सएप के माध्यम से परीक्षा की तैयारी के लिए अभ्यास प्रश्न” भेजते थे।

उन्होंने कहा, “मैं उम्मीद कर रहा था और पूर्ण अंक प्राप्त करने पर ध्यान केंद्रित कर रहा था, और मैंने उस लक्ष्य के लिए काम किया।” परीक्षा 6 जून को हुई थी और इस हफ्ते राष्ट्रीय शिक्षा मंत्रालय ने कहा कि 36 प्रांतों के 97 छात्रों ने सभी सवालों के सही जवाब देकर पूरे अंक हासिल किए, जिसमें डायलार भी शामिल है।

डेलार सफ़ो ने बताया, “मैं तुर्की, अरबी, कुर्द और अंग्रेजी सहित चार भाषाएं बोल सकता हूं। मुझे गणित में दिलचस्पी है। मुझे यह पसंद है,” उन्होंने कहा, उनका लक्ष्य एक इंजीनियर बनना है। उन्होने कहा, “मैंने अभी तक तय नहीं किया है कि मैं किस हाई स्कूल में जाऊंगा। मैं और मेरे शिक्षक सर्वश्रेष्ठ की तलाश कर रहे हैं।”

अपने शिक्षकों और परिवार के समर्थन के लिए उनका आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि सफलता के लिए सभी को आत्मविश्वास और खुद पर विश्वास होना चाहिए। ‘हम सब एक ही सभ्यता के बच्चे हैं’