यंग इंडोनेशियाई ने तीन पाक मस्जिदों का दौरा करने के लिए साइकिल पर 5,000 किमी का सफर किया तय

0
383

हज करना हर मुसलमान का ख्वाब होता है और कुछ लोग इसे करने के लिए किसी भी हद तक जाते है और अपने इस सपने को पूरा करते है आज हम बात करेंगे इंडोनेशिया के यांग लड़के की जो 5000 किलोमीटर सफर बाइसिकल से तय कर हज के लिए जेद्दाह पहुंचा है .

इस यंग इंडोनेशियाई ने 4 नवंबर, 2021 को मध्य जावा के मगेलांग से यात्रा की और पिछले सप्ताह मक्का पहुंचने के बाद उमराह किया। वह इंडोनेशिया के अन्य ज़ायरीनों में शामिल होंगे, जो सबसे अधिक आबादी वाला मुस्लिम देश है, जो आगामी हज के लिए 100,051 ज़ायरीनों का सबसे बड़ा दल भेज रहा है। अब तक लगभग 21,000 इंडोनेशियाई ज़ायरीन मदीना पहुंच चुके हैं।

विज्ञापन

इस बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा “मेरा इरादा हज करने और इस्लाम में तीन पाक मस्जिदों – मक्का में ग्रैंड मस्जिद, मदीना में पैगंबर की मस्जिद और जेरूसलम में अक्सा मस्जिद का दौरा करने का है। हज करने के बाद, मेरी योजना अक्सा मस्जिद जाने और अन्य खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) राज्यों का दौरा करने के लिए अपनी साइकिल यात्रा को जारी रखना है .

सऊदी गजट के साथ एक इंटरव्यू में, फौजान ने कहा कि उनकी साइकिल यात्रा इस बात का सबसे अच्छा उदाहरण है कि कैसे ऊपरवाला जिसकी हर चीज़ हुकूमत उन चीजों को मुमकिन बनाते हैं जिन्हें आम लोग नामुमकिन समझते हैं।

आगे वो कहते है “सभी ने मुझे बताया कि इस कठिन मिशन को पूरा करना आपके लिए नामुमकिन है, लेकिन अब मैं उन्हें दिखा सकता हूं कि अल्लाह ने इसे मेरे लिए इसे मुमकिन बनाया है। मेरा संदेश यह भी है कि हम वो सब कुछ कर सकते है जिसे हम नामुमकिन समझते है अगर हम उसके लिए सच्चे दिल से मेहनत करना चाहते है तो।

फ़ौज़ान, जो मास्टर डिग्री धारक हैं और अरबी में एक्सपर्ट हैं, ने कहा कि उन्होंने सोचा था कि यह लंबे सालो के इंतजार के बिना हज करने का सबसे अच्छा तरीका है।

“आम तौर पर इंडोनेशियाई लोगों को अपने रजिस्ट्रेशन के बाद हज करने के लिए अपनी बारी के लिए लगभग 40 सालो तक इंतजार करना पड़ता है। लेकिन मैं इस्लाम के सबसे पाक जगहों की यात्रा करने के लिए मैंने अपने पैसा जमा करना शुरू किया ”फौजान ने कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here