दुबई में 64 साल बाद खुलने को तैयार पहला हिंदू मंदिर, यूएई में दर्शन की लगी होड़

0
153

दुबई: यूएई में बसे हजारों लोगों को नए हिंदू मंदिर की पहली झलक मिली और इसे देखते ही वो इसकी खूबसूरती में खो गए। यह मंदिर इसी महीने खुला है। हालांकि अभी आधिकारिक तौर पर इसकी ओपनिंग होनी बाकी है लेकिन उससे पहले ही यह खबरों में आ गया है। इस मंदिर में सभी धर्मों में आस्‍था रखने वाले लोग जा सकते हैं।

मंदिर में 16 भगवानों की मूर्तियां हैं और पूजा करने वालों के अलावा दूसरे लोगों को भी मंदिर में आने की अनुमति दी गई थी। मंदिर में नौ दिनों तक विशेष प्रार्थना सभा का आयोजन किया। इस दौरान हर ईश्‍वर की पूजा हुई है। अगस्‍त महीने के अंत में मंदिर में सिखों के पवित्र ग्रुरु ग्रंथ साहिब को भी यहां रखा गया है।

मंदिर अंदर से काफी खूबसूरत है और इसकी खूबसूरती देखती ही बनती है। मंदिर के मुख्‍य हॉल में ईश्‍वर की मूर्तियां स्‍थापित हैं। इस हॉल में एक बड़ा सा 3डी प्रिंटेड गुलाबी कमल है जो पूरे गुंबद पर नजर आता है और उसे खूबसूरत बना देता है। कई परिवारों को इसे देखने का मौका उस समय मिला जब उन्‍होंने यहां पर ईश्‍वर की स्‍थापना के दौरान आयोजित कार्यक्रमों में हिस्‍सा लिया। यह मंदिर ‘पूजा गांव’ के तौर पर मशहूर जबेल अली में स्थित है।

विज्ञापन

यह वह जगह है जहां पर कई चर्च और गुरु नानक दरबार गुरुद्वारा स्थित है। 1 सितंबर को इस मंदिर को अनौपचारिक तौर पर खोला गया है। मैनेजमेंट की तरफ से क्‍यूआर कोड आधारित एप्‍वाइंटमेंट बुकिंग सिस्‍टम सक्रिय किया गया है। वेबसाइट के जरिए इस क्‍यूआर सिस्‍टम का प्रयोग कर दुबई के हिंदू मंदिर के लोगों ने दर्शन किए।

पहले दिन से ही मंदिर में दर्शन करने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ रही है, खासतौर पर वीकएंड पर। लेकिन क्‍यूआर कोड की वजह से एंट्री कुछ हद तक सीमित हो गई है। भीड़ को मैनेज करने और सोशल डिस्‍टेंसिंग के लिए यह प्रक्रिया अपनाई गई है। मंदिर में इस समय सिर्फ मंत्रोंच्‍चारण किया जा रहा है। 14 पंडित इस मंदिर में मंत्रों को पढ़ रहे हैं और ये सभी पंडित भारत से गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here