सऊदी के झंडे से त’लवा’र को हटाने का प्रस्ताव हुआ जारी

सऊदी अरब के झंडे से कलमा ए तैयबा के नीचे बनी त’लवा’ र की छवि को ह’ टाने का प्रस्ताव पेश किया गया। जिसकी न केवल सऊदी अरब में बल्कि पूरी मुस्लिम दुनिया में आ’लोच’ ना हो रही है।

झंडे से त’लवा’ र की छवि को हटाने का यह सुझाव सऊदी लेखक फहद आमेर अल-अहमदी ने ट्विटर पर दिया। उनका मानना है कि छवि राज्य की वर्तमान नीतियों से मेल नहीं खाती है।

अल-अहमद ने लिखा, “मेरा सुझाव है कि हमारे सऊदी झंडे से त’लवा’र को हटा दें।” उन्होने कहा, “पहला कि यह इस दिन और उम्र में अच्छा नहीं होता है। दूसरा, यह ‘धर्म में कोई बाध्यता नहीं है’ के खिला’ फ जाता है। तीसरा, इसे ह’ टाने से हिं’ सा की हमारी निं’ दा सक्रिय रूप से होगी। हमारे ध’ र्म के खि’ ला’ फ दावों को मा’ र रहा है। ”

उन्होंने कहा कि सऊदी ध्वज को पहले ही छह बार बदल दिया गया था और दो संस्करणों में त’लवा’ र की छवि नहीं थी। इस पर प्रिंस सत्तम बिन खालिद अल-सऊद ने कहा कि त’ लवा’ र ताकत का प्रतिनिधित्व करती है न कि हिं’ सा का। “तल’ वार ता’ कत और न्याय का प्रतीक है और सऊदी इतिहास का अभिन्न अंग है।”