एक सुर में फिलिस्तीन के साथ खड़े हुए सभी अरब देश, अल क़ुद्स को दूसरी प्राथमिकता बताया

मिडिल ईस्ट आई की रिपोर्ट के मुताबिक़,अरब देश हमेशा से ही फिलिस्तीनियों को फिलिस्तीनी अधिकारों का त्या’ग करके अपने स्वयं के हि’तों को आगे बढ़ाने के लिए विभिन्न अरब शासनों द्वारा फिलिस्तीन मुद्दा उठाया गया है।

फिर भी, अरब शासन के लिए मा’फी देने वाले, जो हाल ही में इस राय’ ल के साथ सामान्यीकृत संबंध अपनी सरकार के फैसले का बचाव करते हैं, उसी तर्क के साथ सबसे शुरुआती सामान्यजन – मिस्र और जॉर्डन – दशकों पहले इस्तेमाल किए गए थे।

आपको बता दें कि इन देशों ने 1948 से फिलिस्तीनी हितों को अपने हाथों में रखकर ब’लिदा’न दिया था। इस’ राय’ ल के साथ अब सामान्य होने के उनके फैसले, वे हमें बताते हैं, आखिर में अपने राष्ट्रीय हितों को पहले रखा है, और फिर भी सामान्य बनाने में वे फिलिस्तीनियों की मदद कर रहे हैं!

किंग सलमान ने हाल ही मैं फिलिस्तीन के प्रति सऊदी अरब का पूर्ण समर्थन ज़ाहिर किया था। जिसका फिलिस्तीनियों ने स्वागत किया था।