जो बाइडन राष्ट्रपति शपथ लेते ही अमेरिकी मुस्लिमों को देंगे सबसे बड़ी खुशखबरी, अरब मुल्कों के साथ भी होगा..

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन 20 जनवरी को राष्ट्रपति का पद संभालते ही डोनाल्ड ट्रंप के ‘मुस्लिम बै’न’ को हटा देंगे। बाइडेन ने ऐलान किया है कि वह डोनाल्‍ड ट्रंप के समय से चले आ रहे कुछ मुस्लिम बहुल देशों से यात्रा पर बैन को ख’त्‍म करेंगे।

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, बुधवार को शपथ लेने के बाद बाइडेन करीब 12 अहम फैसले लेने जा रहे हैं। इन फैसलों का असर न सिर्फ अमेरिका, बल्कि पूरी दुनिया पर पड़ेगा। जिसमे वह कोविड-19 संकट, आर्थिक संकट, पर्यावरण संबंधी सं’कट और न’ स्ली असमानता से निपटने के लिए करीब एक दर्जन प्रस्तावों पर हस्ताक्षर करेंगे।

व्हाइट हाउस के नवनियुक्त चीफ ऑफ स्टाफ रोन क्लीन ने कहा, नवनिर्वाचित राष्ट्रपति ऐसे समय में कार्यभाल संभाल रहे हैं, जब देश गंभीर सं’ कट से जूझ रहा है. हमारे सामने चार बड़े संकट हैं, जो एक दूसरे से जुड़े हैं। ये संकट हैं- कोविड-19 सं’कट, इसके कारण पैदा हुआ आर्थिक संकट, पर्यावरण से जुड़ा संकट और न’स्ली समानता (के अभाव) से जुड़ा सं’ कट।

In this Tuesday, Jan. 7, 2020 file photograph, presumptive Democratic presidential nominee Joe Biden gestures during a foreign policy statement in New York. On Tuesday, a federal judge restored New York’s Democratic presidential primary slated for June 23, after ruling that eliminating it was unconstitutional. (AP Photo/File, Richard Drew)

इन सभी सं’ कटों के समाधान के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की आवश्यकता है और बाइडेन अपने कार्यकाल के शुरुआती 10 दिन में इन सं’ कटों से निपटने के लिए निर्णायक कदम उठाएंगे।

क्लीन ने कहा, शपथ ग्रहण के दिन नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बाइडेन चार संकटों से निपटने के लिए करीब एक दर्जन प्रस्तावों पर हस्ताक्षर करेंगे। उन्होंने कहा कि जैसे कि पहले ही घोषणा की गई थी, वह शिक्षा विभाग से छात्रों के लिए ऋण के भुगतान पर मौजूदा रोक की अवधि बढ़ाएंगे, पेरिस समझौते में पुन: शामिल होंगे और मुस्लिम देशों पर लगे प्र’तिबं’ध हटाएंगे।

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप ने राष्ट्रपति बनते ही सात मुस्लिम देशों से आने वाले नागरिकों पर अमेरिका में प्रवेश करने पर रो’क लगा दी थी। इन देशों में ईरान, ईराक, सोमालिया, लीबिया, सूडान, सीरिया और यमन शामिल थे।