हज यात्रा को लेकर सऊदी ने जारी किए दिशा-निर्देश, सख्ती से होगा पालन

कोरोना वायरस महामारी के बीच इस साल सऊदी अरब में हज की पवित्र यात्रा सीमित रूप से होगी। इस दौरान भी जारी किए गए नियमों का सख्त पालन होगा। सऊदी सरकार ने स्वास्थ्य प्रोटोकॉल की घोषणा कर दी है।

प्रोटोकॉल के अनुसार, 19 जुलाई से अधिकारी मीना, मुजदल्फा, अराफात के मैदान में बिना इजाजत यात्रियों को नहीं आने देंगे। कोविड-19 संक्रमण की चेतावनी वाले कई भाषाओं में साइनबोर्ड को लगाना जरूरी होगा। साइनबोर्ड में हाथ धोना, छींकना-खांसना और अल्कोहल निर्मित हैंड सैनेटाइजर के इस्तेमाल के बारे में जानकारी होगी।

इस साल हज के दौरान खाना-ए-काबा को छूने पर प्रतिबंध रहेगा। काबे के तवाफ के दौरान डेढ़ मीटर की शारीरिक दूरी का नियम भी बनाया गया है और इसी के साथ सामूहिक नमाज के दौरान में भी दूरी रखने को कहा गया है।

प्रोटोकॉल में कहा गया है कि हज के दौरान जाने वाले स्थल जैसे कि मोना, मुजदलिफा और अराफात तक वे ही जा पाएंगे, जिनके पास हज परमिट होगा। यह परमिट 19 जुलाई से लेकर 2 अगस्त के लिए लागू रहेगा। हज के दौरान यात्रियों के साथ-साथ आयोजकों और कर्मचारियों को हर समय मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

मुसलमानों के लिए हज फर्ज होने की वजह से हर साल दुनिया भर के करीब 20 लाख मुसलमान हज के लिए पवित्र शहर मक्का पहुंचते हैं। बड़ी संख्या में लोगों के जुटने की वजह से इस बार संक्रमण का खतरा है। ऐसे में हज यात्रा को सीमित कर दिया गया।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE