सऊदी मॉल में महिला कर्मी के साथ हुआ ऐसा की मॉल को देना पड़ा इतना ज़्यादा जुर्माना

0
683

मानव संसाधन और सामाजिक विकास मंत्रालय (एमएचआरएसडी) ने एक सऊदी महिला कर्मचारी के मुद्दे को हल करने के लिए हस्तक्षेप किया है, जिसे राजधानी रियाद में एक मॉल के अंदर अपने काम के दौरान पूरे टाइम बैठने से रोका गया था।

जिसके बाद उसकी क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी ये वीडियो खुद महिला ने ही पोस्ट की थी जिसके बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने मॉल में महिला के काम करने की अनुचित स्थिति के बारे में इस वीडियो पर उसके साथ सहानुभूति व्यक्त की जिसके बाद यूज़र्स ने मंत्रालय से उनकी समस्या के समाधान के लिए तत्काल कार्रवाई करने की भी मांग की।

विज्ञापन

मंत्रालय का हस्तक्षेप एक रिपोर्ट प्रस्तुत किए जाने के बाद आया, जिसमें एक वीडियो क्लिप के साथ कर्मचारी यह कहते हुए दिखाई दे रही है कि वह अपने वर्किंग आर्स के दौरान खड़ी रहती है क्योंकि उसे बैठने की अनुमति नहीं है, भले ही ग्राहक हों या ना हों .

मंत्रालय ने पुष्टि की है कि उसने उस महिला के मामले की जांच शुरू कर दी है। मंत्रालय ने यह भी स्पष्ट किया कि उसने सभी कानूनी उपाय करने के साथ-साथ मॉल के अंदर के कर्मचारियों के लिए उपयुक्त कार्य वातावरण उपलब्ध कराने के लिए सुविधा को देने का आदेश दिया है, अल-अरबिया डॉट नेट ने बताया।

यह उल्लेखनीय है कि जिन कर्मचारियों को काम के घंटों के दौरान खड़े रहने की आवश्यकता होती है, जैसे office jobs, customer service, sales accountants और इसी तरह के कर्मचारियों के लिए कार्यालय या बैठने की सुविधा प्रदान करने में विफलता को सऊदी लेबर लॉ के अनुसार दंडनीय अपराध माना जाता है।

उल्लंघन के लिए जुर्माना SR5,000 है। कानून के तहत, एम्प्लायर महिला कामगारों के काम करने के दौरान उनके लिए उपयुक्त बैठने की व्यवस्था करने के लिए बाध्य है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here