विंटेज मर्सिडीज बनी दुनिया की सबसे महंगी कार, कीमत सुन खड़े-खड़े गिर पड़ेंगे आप

0
380

कहते है महंगी कार खरीदना अमीरो का शौक होता है लेकिन आप अपनी सोच के हिसाब कितनी भी महंगी कार सोच लेंगे लेकिन शायद आप ये नहीं सोच पाएंगे की एक विंटेज 1955 मर्सिडीज-बेंज को 143 मिलियन डॉलर यानी की लगभग 1,100 करोड़ रुपये में बेचा गया है हो गए ना आप हैरान।

विज्ञापन

जी हां इस कार को नीलामी में बेचा गया है जो अब तक की सबसे महंगी कार बन गई है।सीएनबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, कनाडा स्थित आरएम सोथबी ने घोषणा की है कि उसने इस महीने की शुरुआत में 1955 की मर्सिडीज-बेंज 300 SLR Uhlenhaut Coupe की नीलामी 135 मिलियन यूरो और लगभग 143 मिलियन डॉलर में की है।

अब तक की नीलामी में बेची गई सबसे महंगी कार के पिछले रिकॉर्ड जो की $95 मिलियन का था जो की बहुत ज़्यादा था उसको ही तोड़ दिया है और निजी तौर पर बेची गई कार के लिए $70 मिलियन के रिकॉर्ड में सबसे ऊपर रही।

विजेता बोली एक अज्ञात ग्राहक की ओर से ब्रिटिश कार कलेक्टर, सलाहकार और डीलर साइमन किडस्टन द्वारा बोली गयी थी। रिपोर्ट में कहा गया है कि किडस्टन ने कार बेचने पर विचार करने के लिए मर्सिडीज-बेंज बोर्ड की 18 महीने तक पैरवी की थी।

300 SLR Uhlenhaut कूप, सन1955 में बनाई गई दो कार्स में से एक है जिसे ऑटो इतिहास में सबसे बेशकीमती कारों में से एक माना जाता है। इतना ही नहीं इस कार को मर्सिडीज के रेस डिपार्टमेंट द्वारा निर्मित किया गया था और इसका नाम इसके मुख्य अभियंता और डिजाइनर यानी की रूडोल्फ उहलेनहॉट के नाम पर रखा गया था।

मर्सिडीज-बेंज कंपनी के पास दोनों 300 एसएलआर कारें थीं, और इस बिक्री ने कई कलेक्टर्स को पूरी तरह से आश्चर्यचकित कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here