‘अमेरिका मुसलमानों के मुद्दे पर चीन और मुस्लिम दुनिया के बीच पैदा करना चाहता है क’लह’

उइ’गुर मुसलमानों के मुद्दे पर चीन ने कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका और कुछ यूरोपीय देश “मुसलमानों के बारे में वास्तव में परवाह नहीं करते हैं। बल्कि इस मुद्दे का उपयोग चीन और मुस्लिम दुनिया के बीच कलह को बुझाने के लिए कर रहे हैं।

रविवार को ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने अमेरिका और अन्य यूरोपीय राज्यों के इरादों पर सवाल उठाया और कहा कि जो दूर-दराज के शिनजियांग में उइ’गरों के समर्थन की घोषणा करते हैं, अपने स्वयं के देशों के साथ-साथ अमेरिका में मुसलमानों के खिलाफ बड़े पैमाने पर भेदभाव करते हैं।

उन्होंने 9/’11 का हवाला देते हुए कहा कि आ’तं’कवा’द के नाम पर इतने मुस्लिम देशों को तबा’ह कैसे कर सकते थे। लाखों मुसलमान मा’रे गए और लाखों लोग विस्था’पित हुए? ”

उन्होंने अमेरिका और कुछ यूरोपीय देशों में मुसलमानों के खिलाफ गंभीर भेद’भाव पर जोर दिया। प्रवक्ता ने कहा, “फिर भी वे शिनजियांग में उइ’गुर लोगों में विशेष रुचि रखते हैं”, जबकि 56 जातीय समूह हैं।

“स्पष्ट रूप से, वे चीन की वृद्धि को रोकने के लिए चीन की एकता, सुरक्षा और स्थिरता को तोड़ने के अलावा कुछ नहीं चाहते हैं; और चीन और मुस्लिम दुनिया के बीच मुसलमानों के खिलाफ अपने स्वयं के भे’दभाव और उ’त्पीड़न से ध्यान हटाने के लिए एक अभियान चलाते हैं।

चुनयिंग ने जोर देकर कहा, “ज्यादातर मुस्लिम लोगों के लिए, संयुक्त राज्य अमेरिका निश्चित रूप से सबसे सुरक्षित देश नहीं है।”

बता दें कि इस मामले में ब्रिटेन, संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोपीय संघ और कनाडा ने हाल ही में चीन पर प्रति’बंध लगाए।बदले में चीन ने भी कई अमेरिकी और कनाडाई अधिकारियों पर प्रति’बंध लगाए।