‘UAE ने पाकिस्तानी शिया मुसलमानों को हिरा’सत में लेकर किया निर्वासित’

ह्यूमन राइट्स वॉच (HRW) ने संयुक्त अरब अमीरात पर अक्टूबर से कम से कम चार पाकिस्तानी पुरुषों को जबरन गायब करने और कम से कम छह अन्य को उनकी शिया मुस्लिम धार्मिक पृष्ठभूमि के आधार पर निर्वासित करने का आरोप लगाया है।

ह्यूमन राइट्स वॉच ने मंगलवार को प्रकाशित एक रिपोर्ट में कहा कि ये सभी यूएई में रहते और काम करते थे। प्रबंधकों, बिक्री कर्मचारियों, छोटे व्यवसायों के सीईओ, मजदूरों और ड्राइवरों के रूप में इन लोगों का काम था।

संयुक्त अरब अमीरात के विदेश मंत्रालय ने फिलहाल एचआरडब्ल्यू रिपोर्ट पर कोई टिप्पणी नहीं है। वहीं पाकिस्तान का विदेश मंत्रालय भी इस मुद्दे पर टिप्पणी करने से बच रहा। एचआरडब्ल्यू ने पहले कहा है कि सैकड़ों कार्यकर्ता, शिक्षाविद और वकील संयुक्त अरब अमीरात की जे’लों में लंबी स’जा काट रहे हैं।

हालांकि यूएई ने उन आरोपों को झूठा और निराधार बताते हुए खारिज कर दिया है। अब एचआरडब्ल्यू की रिपोर्ट में कहा गया है, “यूएई के अधिकारियों ने अक्टूबर और नवंबर 2020 में छह को रि’हा कर दिया और उन्हें तुरंत गायब कर दिया और तीन सप्ताह और पांच महीने के बीच इनकंपनीडो हिरासत में रखा।”

हि’रासत में रहने वाले चार लोगों में से एक को छह महीने बाद अपने परिवार को फोन करने की इजाजत दी गई। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस शख्स के परिवार को अभी भी यह नहीं पता है कि अधिकारी उसे कहां पकड़ कर रखा हैं और उसे क्यों हिरा’सत में लिया गया है।