काबुल हवाईअड्डे पर तुर्की की मौजूदगी राजनयिक समुदाय के लिए ‘जरूरी’: अफगान विदेश मंत्री

अफगान विदेश मंत्री ने रविवार को अफगानिस्तान से विदेशी बलों की वापसी के बाद काबुल हवाई अड्डे को सुरक्षित करने के लिए तुर्की की इच्छा का स्वागत करते हुए कहा कि यह देश में राजनयिक समुदाय की उपस्थिति के लिए यह आवश्यक है।

अंताल्या डिप्लोमेसी फोरम के मौके पर हनीफ अतमार ने कहा, “सबसे पहले, हम तुर्की की क्षमताओं और सुविधाओं को बनाए रखने की इच्छा के साथ-साथ हवाई अड्डे के लिए उच्च-स्तरीय तकनीकी व्यवस्था का स्वागत करते हैं, जो राजनयिक समुदाय की निरंतर उपस्थिति के साथ-साथ निरंतर समर्थन के लिए आवश्यक होगा।”

उन्होने कहा, “तुर्की ने एक साहसिक और बहुत सराहनीय पहल की है,” उन्होंने कहा, वे “पूरी तरह से” इस कदम का समर्थन करेंगे। “क्षेत्रीय और वैश्विक स्तर पर तुर्की की एक अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका है।” तुर्की, अफगानिस्तान और ईरान के साथ एक त्रिपक्षीय बैठक भी कर रहा है।

बैठक को लेकर उन्होंने कहा कि तीनों देश “महत्वपूर्ण” क्षेत्रों में सहयोग करने के लिए सहमत हुए हैं: जिसमे अफगान शांति प्रक्रिया, सुरक्षा, आ’तंकवाद का मुकाबला, संगठित अप’राधों और अवैध प्रवास को रोकना, और आर्थिक सहयोग शामिल है।

अतमार ने दिन में अपने तुर्की समकक्ष मेवलुत कावुसोग्लू और ईरानी विदेश मंत्री जवाद जरीफ से मुलाकात की। मंत्री ने कहा, “हमने शांति प्रक्रिया के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई और इस बात पर जोर दिया कि हम तीनों मिलकर और पाकिस्तान के साथ मिलकर काम करें।”