एर्दोगान बोले – बोस्नियाई लोगों के साथ हमेशा खड़ा रहेगा तुर्की, यूरोप को नहीं भूलने देंगे

तुर्की के राष्ट्रपति ने रविवार को सेरेब्रेनिका नर’संहा’र की 26वीं वर्षगांठ मनाई, इस दौरान उन्होने पीड़ितों के प्रति अपना दुख और सहानुभूति व्यक्त की।

बोस्निया में नरसंहा’र की बरसी पर एक वीडियो संदेश में रेसेप तईप एर्दोआन ने कहा कि तुर्की बोस्निया और हर्जेगोविना और बोस्नियाई लोगों के साथ खड़ा रहेगा। उन्होंने कहा कि तुर्की नर’सं’हार को कभी नहीं भूलने देगा, जो “यूरोप और मानवता के इतिहास में एक काला निशान” है।

एर्दोआन ने कहा, “हमारे दिल में खोले गए घा’व सेरेब्रेनिका से अभी भी खू’न बह रहा है, हालांकि 26 साल बीत चुके हैं।” बता दें कि डच शांति से’ना की मौजूदगी के बावजूद, जुलाई 1995 में बोस्नियाई सर्ब ब’लों ने सेरेब्रेनिका पर हम’ला कर पर 8,000 से अधिक बोस्नियाई मुस’लमान मा’रे थे।

यु’द्ध अपरा’धी जनरल म्लादिक पर अदालत के फैसले को याद करते हुए, एर्दोआन ने कहा कि हालांकि डिक्री “यूरोप के दिल में त्रासदी” की पीड़ा को कम नहीं कर सकती है, लेकिन यह अन्य न”रसंहा’रों को रोकने में मदद कर सकती है।

तुर्की के राष्ट्रपति ने राजनीतिक हस्तियों से घृ’णा, हिं’सा और भेद’भाव का विरो’ध करने और सामान्य मानवीय मूल्यों के आधार पर एकजुट होने का आह्वान किया। उन्होंने कहा, “इन भूमि [बोस्निया और हर्जेगोविना] पर शांति को स्थायी बनाना हमारा सामान्य कर्तव्य है।”