No menu items!
28.1 C
New Delhi
Thursday, August 5, 2021

तुर्की ने सऊदी अरब के साथ संबंधों को सुधारने के लिए की पहल

Must read

- Advertisement -

तुर्की सऊदी अरब के साथ संबंधों को सुधारना चाहता है। तुर्की राष्ट्रपति के के प्रवक्ता और सलाहकार इब्राहिम कलिन ने सोमवार को ये जानकारी दी। बता दें कि जमाल ख़ाशग़्जी के मामले में क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान का नाम सामने आने के बाद से ही दोनों देशों के सबंध काफी खराब हो चुके है।

पिछले साल से दोनों देशों के बीच व्यापार में भी 98% की गिरावट आई है, किंगडम में तुर्की वस्तुओं के अनौपचारिक बहिष्कार की घोषणा की हुई है। कलिन ने उम्मीद जताते हुए कहा कि बहिष्कार को हटाया जा सकता है। उन्होने कहा, “हम सऊदी अरब के साथ और अधिक सकारात्मक एजेंडे के साथ संबंध को सुधारने के तरीकों की तलाश करेंगे।”

कलिन ने यह भी कहा कि तुर्की के राष्ट्रपति ने सऊदी अरब में पत्रकार जमाल खशोगी के मुक’दमे का स्वागत किया जिसके तहत सात और 20 साल के बीच आठ लोगों को जे’ल में डाल दिया गया था। कलिन ने कहा, “उनका एक दरबार था। परीक्षण आयोजित किए गए हैं। उन्होंने निर्णय लिया इसलिए हम उस निर्णय का सम्मान करते हैं।”

कलिन की टिप्पणियां अगले हफ्ते तुर्की और मिस्र के बीच बातचीत से पहले आईं, जिससे अंकारा को उम्मीद है कि दोनों देशों के बीच नए सिरे से सहयोग होगा। 2013 में मिस्र की से’ना ने मुस्लिम ब्रदरहुड के अध्यक्ष मोहम्मद मोर्सी को अपदस्थ कर दिया था, जो तुर्की के करीब थे।

हाल ही में, हालांकि, तुर्की ने मिस्र और अन्य खाड़ी राज्यों के साथ संबंधों को फिर से मजबूत बनाने के लिए काम करना शुरू कर दिया है, उन मतभेदों को दूर करने की कोशिश की गई है जिन्होंने अंकारा को अरब दुनिया में तेजी से अलग कर दिया है।

कलिन ने कहा कि खुफि’या प्रमुखों के साथ-साथ दोनों देशों के विदेश मंत्री संपर्क में रहे हैं और तुर्की का एक राजनयिक मिशन मई की शुरुआत में मिस्र में शुरू करेगा। उन्होंने कहा, “जमीन पर वास्तविकताओं को देखते हुए मुझे लगता है कि यह मिस्र के साथ संबंधों को सामान्य बनाने के लिए दोनों देशों और क्षेत्र के हितों में है।”

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest article