फ्रांस के चुनाव में में मैक्रोन के ’हस्तक्षेप’ के दावे को तुर्की ने किया खारिज

तुर्की ने बुधवार को फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन के उस बयान की निंदा की जिसमे उन्होंने फ़्रांस में होने वाले चुनावों में तुर्की के हस्तक्षेप करने की शंका जाहिर की थी। फ्रांसीसी राष्ट्रपति का इशारा अगले राष्ट्रपति चुनाव की और था।

मैक्रॉन ने इस सप्ताह फ्रेंच टेलीविजन को बताया कि तुर्की “जनता की राय से खेल रहा है” और राज्य-नियंत्रित मीडिया के उपयोग के माध्यम से फ्रांस में “झूठ” फैला रहा है।

मैक्रोन ने ये भी कहा, “2022 में अगले (फ्रांसीसी) राष्ट्रपति चुनावों में हस्तक्षेप करने के प्रयास होंगे।”

तुर्की के विदेश मंत्रालय ने कहा कि मैक्रॉन के शब्द “हमारे देशों के बीच मित्रता और गठबंधन के लिए अस्वीकार्य और विपरीत हैं।”

बुधवार को तुर्की के बयान में कहा गया कि मैक्रॉन की टिप्पणियों ने फ्रांस के 800,000 मजबूत तुर्की समुदाय को अलग कर दिया।

विदेश मंत्रालय ने कहा कि मैक्रॉन की नवीनतम टिप्पणियों ने संबंधों को सुधारने के तुर्की के प्रयासों को कम कर दिया।

तुर्की के मंत्रालय ने कहा, “हमें लगता है कि मैक्रोन के ये बयान दुर्भाग्यपूर्ण और असंगत हैं, जब हम तनाव को दूर करने के लिए कदम उठा रहे हैं।