तुर्की करने जा रहा ऐसा काम, जिससे रूस के साथ टकराव पक्का

तुर्की के विदेश मंत्री ने बुधवार को कहा कि अंकारा यूक्रेन के सुधार प्रयासों के लिए समर्थन दिखाने के लिए भविष्य के सम्मेलन की मेजबानी करने के लिए तैयार है। बता दें कि रूस और यूक्रेन के बीच सीमा विवाद है। ऐसे में माना जा रहा है कि तुर्की-रूस के बीच टकराव हो सकता है।

लिथुआनिया की राजधानी विनियस में तुर्की के विदेश मंत्री Mevlüt Çavuşoğlu ने यूक्रेन के समर्थन में आवाज उठाते हुए कहा कि “सुधारों के अपने पथ पर” तुर्की हमेशा यूक्रेन के साथ है। उन्होने कहा, “हम ऐसा यूक्रेन चाहते हैं जो अपने लोगों पर दृढ़ता से निर्भर हो और अपनी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा करने में सक्षम हो।”

तुर्की के विदेश मंत्री ने कहा कि 2014 के क्रीमिया और डोनबास संकटों के परिणामों पर काबू पाना, जो प्रमुख राजनीतिक, सुरक्षा और आर्थिक चुनौतियों का कारण बना, एक अच्छी तरह से सुधारित यूक्रेन के साथ बहुत आसान होगा।

बता दें कि रूसी से’ना ने फरवरी 2014 में क्रीमिया प्रायद्वीप में प्रवेश कर मार्च में औपचारिक रूप से इस क्षेत्र पर कब्जा कर लिया। रूस का यह एक ऐसा कदम है जिसे तुर्की, संयुक्त राष्ट्र महासभा, अमेरिका और यूरोपीय संघ सभी अवैध मानते हैं।

उन्होने कहा, “इन चुनौतियों के बावजूद, यूक्रेनी सरकार ने एक महत्वाकांक्षी सुधार एजेंडा शुरू किया। इन सुधारों को बनाए रखने के लिए दो प्रमुख तत्व हैं: सरलता और प्रभावी कार्यान्वयन।” उन्होंने 2 जुलाई को एक कानून पारित करने के लिए यूक्रेन की संसद की भी सराहना की, जिसमें क्रीमियन टाटर्स को एक स्वदेशी लोगों के रूप में मान्यता दी गई।