इदलिब संकट के बीच तुर्की ने शरणार्थियों के यूरोप जाने के लिए खोली बॉर्डर

सीरिया के इदलिब में शरणार्थियों को बसाने को लेकर आमने-सामने आई तुर्की और सीरिया सरकार के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है। शनिवार को तुर्की के ड्रोन हमलों में 26 सीरियाई सैनिकों की मौ*त हो गई। इससे पहले  गुरुवार को सीरिया के इदलिब में हवाई हमले में तुर्की के कम से कम 33 सैनिक मा*रे गए थे।

ऐसे में अब बड़ा कदम उठाते हुए तुर्की ने अपनी ग्रीस के साथ लगी सीमा को खोल दिया। जिसके बाद ग्रीस सीमा पर 13,000 शरणार्थियों का जमावड़ा है। हालांकि राष्ट्रपति रेचेप तैय्यप अर्दोआन का कहना है कि तुर्की के ‘दरवाज़े खोलने’ के बाद सीमा से 18,000 प्रवासी यूरोप में गए हैं।

ग्रीक अधिकारियों ने शनिवार को कस्तूरों में सीमा पार कर रहे 4,000 से अधिक लोगों को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस के गो*ले छोड़े। ग्रीक के उप रक्षा मंत्री अलकिवदीस स्टेफनिस ने बताया कि स्थानीय ब्रॉडकास्टर स्काई ने शनिवार से रविवार रात के दौरान ग्रीस की सीमा को अवैध रूप से पार करने के करीब हजारों प्रयास किए। स्टीफनिस ने कहा कि उनके सभी प्रयासों विफल कर दिया गया।

वहीं अर्दोआन ने कहा है कि आने वाले दिनों में यह संख्या 25,000 से 30,000 हो सकती है। अर्दोआन ने कहा कि सीरिया के गृह युद्ध के कारण भागे लोगों की तादाद से तुर्की नहीं निपट सकता है। तुर्की में इस समय 37 लाख सीरियाई शरणार्थी हैं। इसके साथ ही अफ़ग़ानिस्तान जैसे कई देशों के प्रवासी भी मौजूद हैं।

इस्तांबुल में शनिवार को राष्ट्रपति अर्दोआन ने कहा, हमने महीनों पहले कहा था कि अगर ये सब ऐसे ही चलता रहा तो हम दरवाज़े खोल देंगे। वो हम पर विश्वास नहीं कर रहे थे लेकिन हमने कल अपने दरवाज़े खोल दिए। उन्होंने कहा, हम आने वाले समय में इन सरहद को बंद नहीं करेंगे और यह चालू रहेगा क्योंकि यूरोपीयन यूनियन को अपने वादों पर टिके रहने की ज़रूरत है। हमें इन शरणार्थियों की देखभाल करने की और इन्हें खिलाने की ज़रूरत नहीं है।


    देश के अच्छे तथा सभ्य परिवारों में रिश्ता देखें - Register FREE

[vivafbcomment]