Home अन्तर्राष्ट्रीय अमेरिकी दादागिरी से निपटने के लिए एर्दोगान ने लिया ये बड़ा फैसला

अमेरिकी दादागिरी से निपटने के लिए एर्दोगान ने लिया ये बड़ा फैसला

3322
SHARE

ईरान से तेल आयात को शून्य करने की अन्यथा प्रतिबंध झेलने की धमकी के बाद तुर्की सहित कई देशो के सामने बड़ी मुसीबत पैदा हो गई है। ऐसे में अब तुर्की ने बड़ा फैसला लिया है।

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगान ने कहा कि डाॅलर से मुक़ाबला करने का एकमात्र तरीक़ा यह है कि व्यापार में अपनी स्थानीय मुद्राओं का प्रयोग किया जाए। उन्होने कहा है कि इस बारे में हमारी ईरान और रूस से बात हुई है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

एर्दोगान ने बताया कि इसी संबन्ध में हम इस समय चीन से बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अपनी ही मुद्रा में व्यापार करने से हमारे कंधों से विदेशी मुद्रा का बहुत बड़ा बोझ उतर जाएगा।

तुर्की राष्ट्रपति ने कहा कि हालांकि तुर्की के विदेशी व्यापार में डाॅलर को बिल्कुल तो समाप्त नहीं किया जा सकता किंतु संसार के देश स्थानीय मुद्राओं में व्यापार करके डाॅलर के संकट से स्वयं को सुरक्षित रख सकते हैं।

बता दें कि हाल ही में तुर्की ने अमेरिका के टेरीफ़ के खिलाफ अमेरिका से आयातित वस्तुओं पर 267 डॉलर मूल्य का आयात शुल्क लगाया। जिसमें कोयला, कागज, बादाम, तंबाकू, चावल, व्हिस्की और कार जैसे उत्पाद शामिल है।

Loading...